रविवार, 7 जून 2020 | 12:35 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | धर्म-अध्यात्म | कावड़ यात्रा को लेकर हरिद्वार पुलिस-प्रशासन तैयार

कावड़ यात्रा को लेकर हरिद्वार पुलिस-प्रशासन तैयार


 

सावन माह की शुरुआत के साथ ही कावड़ यात्रा का आगाज भी हो गया है। उत्तर भारत के दिल्ली पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों से कांवड़िए हरिद्वार का रुख करने लगे है। यहाँ हर की पौड़ी से गंगाजल भरकर अपने-अपने शिवालयों की ओर रवाना भी हो रहे है।  हालांकि अभी कवाड़ियों की संख्या कम दिखाई दे रही है। लेकिन जैसे-जैसे शिवरात्रि का दिन नजदीक आएगा वैसे-वैसे कांवड़ियों की संख्या में बढ़ोतरी होती जाएगी। 

कांवड़िए भगवान भोलेनाथ में बहुत आस्था रखते हैं, अपने मन में मन्नत लिए कोई शिवभक्त पहली बार कांवड़ लेने आया है तो कोई सालो से लगातार कांवड़ लेने हरिद्वार पहुँच रहा है। उनका मानना है कि पैदल मार्ग में आने वाली गर्मी धुप बरसात जैसी सभी कठिनाइयां भगवान भोलेनाथ की कृपा से दूर हो जाती हैं और वे बिना किसी परेशानी के अपने शिवालय तक पहुंचकर भगवान भोलेनाथ को जलाभिषेक करते हैं। जैसे उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। 

बड़ी संख्या में हरिद्वार पहुंच रहे कवाड़ियों की भीड़ को देखते हुए। जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने भी अपनी पूरी तैयारी कर ली हैं।

हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनमजय खंडूरी ने बताया की 12 अगस्त को संपन्न होने वाले कांवड़ मेले के दौरान इस साल लगभग तीन करोड़ कांवड़ियों के हरिद्वार आने की संभावना है। भीड़ नियंत्रण के लिए हरिद्वार को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टरों में विभाजित किया गया है। सेक्टर मजिस्ट्रेटों को संबोधित करते हुए पुलिस अधिकारी ने कांवड़ियों को व्यवस्थाओं और मार्गों के बारे में जानकारी देने के लिये उन्हें सोशल मीडिया मंच का भरपूर उपयोग करने के निर्देश दिए ताकि किसी प्रकार का कुप्रबंधन न हो। इसके अलावा 144 सीसीटीवी कैमरों और 3 ड्रोन कैमरे से भी पुरे मेले पर नजर रखी जा रही है।   

पुलिस ने शिव भक्तों से शराब या अन्य नशीली चीजों के सेवन से दूर रहने को कहा है। कांवड़ियों से दुपहिया या चारपहिया पर क्षमता से ज्यादा सवारियां बैठाने तथा रेलगाडियों की छतों पर बैठकर सफर करने से भी बचने को कहा है। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: