बुधवार, 23 जून 2021 | 10:07 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          संवैधानिक संकट का राग अलाप रही कांग्रेस डरी हुई है-मदन कौशिक          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          उत्तराखंड के पवन दीप राजन बाहर होने से बचे, इंडियन आइडल शो पर फूटा लोगों का गुस्सा          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी          तीरथ सरकार के 100 दिन,सीएम ने कहा हम केाविड की तीसरी लहर के लिए पूरी तरह से तैयार          उत्तराखंड में शुरू नहीं हो सकेगी चार धाम यात्रा          12वीं के छात्रों की मार्गिंक को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में सरकार की ओर से फॉर्मूला रख दिया है          मुख्यमंत्री तीरथ रावत ने दिल्ली में कई केंद्रीय मंत्रियों से की भेंट          राम जन्मभूमि खरीद में नहीं हुआ कोई घोटाला          न्यूजीलैंड का मैच विराट के लिए बनेगा सबसे बड़ी चुनौती         
होम | उत्तराखंड | देहरादून जू के पशु-पक्षीयों के जीवन संरक्षण के लिए हंस फाउंडेशन की बड़ी सौगात,जू के पशु-पक्षीयों को

देहरादून जू के पशु-पक्षीयों के जीवन संरक्षण के लिए हंस फाउंडेशन की बड़ी सौगात,जू के पशु-पक्षीयों को


कोरोना संक्रमण के इस दौर में मनुष्य ही नहीं,बल्कि जानवरों को भी कई संकटों से गुजराना पड़ रहा है। मुनष्यों के जीवन संरक्षण को लेकर तामम सरकारों के साथ-साथ कई सामाजिक संगठन निरंतर सहयोग कर रहे। ऐसे में जानवरों की देख-भाल के लिए भी कई सामाजिक संगठन आगे आए है।

इन संगठनों में प्रथम पंक्ति में खड़े होकर हंस फाउंडेशन ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के सानिद्ध में देहरादून जू के जानवरों के जीवन संरक्षण के लिए बड़ी सौगात दी है। हंस फाउंडेशन ने देहरादून चिड़ियाघर के पशु-पक्षीयों को गोद लेकर इनके खान-पान और रहन-सहन की जिम्मेदारी ली है। ताकि इस कोरोना सक्रमंण के दौर में इन बेजुबान जानवरों का जीवन बचाया जा सके।

इसी के साथ देहरादून चिड़ियाघर के पशु-पक्षीयों के रखरखाव,खान-पान एवं अन्य सुविधाओं के लिए हंस फाउंडेशन ने लगभग 30 लाख रूपये की राशि प्रदान की गई है। जिसके तह्त ट्रेक सूट,जैकेट,ए.ई.डी,सैनेटाइजर मशीन और मास्क एवं कैप सहित अन्य जरूरी सामना प्रदान किया गया है। साथ ही टाटा ऐस गोल्ड वाहन एवं एयर बैलून के लिए भी राशि प्रदान की गई है।

हंस फाउंडेशन द्वारा देहरादून चिड़ियाघर के जानवरों को गोद लेकर चिड़ियाघर के रखरखाव में सहयोग करने के लिए देहरादून चिड़ियाघर के निदेशक प्रसन्न कुमार पात्रो ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते हुए बताया कि यह दौर मानव के साथ पशु-पक्षीयों के लिए भी बहुत संकट का दौर है। इस दौर में मनाव के साथ-साथ जानवरों में भी कोरोना संक्रमण फैलने के संकते हमें मिले थे। लिहाजा एहतियात के तौर पर तत्काल प्रभाव से पर्यटकों के लिए जू को बंद करना पड़ा।

कोरोना लॉकडाउन के चलते हमारे सामने सबसे बड़ी समस्या इन जानवरों के लिए खानपान की व्यवस्था करने की थी। देहरादून चिड़ियाघर में जानवरों के खाने पीने और दवाइयों आदि पर करीब 60 लाख रुपये साल भर में खर्च होते हैं। पर्यटकों के लिए जू बंद होने से चिड़ियाघर के जानवरों के लिए यह व्यवस्था कैसे की जाएं। यह बहुत बड़ी चुनौती थी। ऐसे मुश्किल समय में हमारे साथ बहुत से सामाजिक संगठन जुड़े,विशेष तौर पर हंस फाउंडेशन ने हमारे जानवरों के रहन-सहन और खानपान के लिए बड़ी मदद की है। जिसके माध्यम से हम देहरादून जू के जानवरों को सेवाएं दे रहे है। इनके रहन-सहन और खानपान की व्यवस्थाओं को बेहतर कर पा रहे है। इसके लिए हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते है।

इस मौके पर देहरादून जू के क्षेत्राधिकारी मोहन सिंह रावत,उप वन क्षेत्राधिकारी विनोद कुमार लिंगवाल,वन दरोगा चरण सिंह, आशा चौहान,वन आरक्षी  प्रियंका,मनोज चमोली, विनीता,अमित अंथवाल, पशु चिकित्सा अधिकारी राकेश नौटियाल एवं हंस फाउडेशन के फील्ड मैनेजर पंकज शर्मा और योगेश सुंदरियाल के साथ ताममा गणमान्या लोग उपस्थित थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: