शनिवार, 24 जुलाई 2021 | 09:58 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम पुष्कर धामी ने किया 179 करोड़ की 65 योजनाओं का लोकार्पण,शिलान्यास          मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने रुद्रपुर में अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा          कोरोना महामारी के बीच ओलंपिक गेम्स हुए शुरू          सीएम पुष्कर धामी ने कोविड-19 से बचाव के लिये उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ की समीक्षा          उत्तराखंड में कांग्रेस का सियासी संकट खत्म,हरीश रावत होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा          कोरोना संक्रमण के चलते आर्थिक मंदी से जूझ रहे चारधाम यात्रा व पर्यटन को उभारे के लिए धामी सरकार की 200 करोड़ रूपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा          प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत उत्तराखंड में 240 लाभार्थियों को दिया गया आवास कब्जा          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड को कोविड-19 से लड़ने के लिए हंस फाउंडेशन ने प्रदान की 1 करोड़ 51 लाख रूपये की राशि

उत्तराखंड को कोविड-19 से लड़ने के लिए हंस फाउंडेशन ने प्रदान की 1 करोड़ 51 लाख रूपये की राशि


उत्तराखंड को कोविड-19 से लड़ने और प्रदेश की जनता को इस महामारी के जल्द से जल्द उभारने के लिए माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने 1 करोड़ 51 लाख रूपये की राशि प्रदान की है। इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि आज देश जिस संकट से गुजर रहा हैं। इस संकट के समय में राज्य को उभारने के लिए कई लोगों राज्य के साथ खड़े है। ऐसे समय के विकास के लिए राज्य के गरीब और जरूरतमंद लोगों को मदद पहुंचाने के लिए हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी कोटि-कोटि आभार प्रकट करते है। श्री रावत ने कहां कि माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी अपने स्तर पर हंस फाउंडेशन के माध्यम से देश के कई राज्यों को कोविड-19 से लड़ने के लिए सहयोग कर रहे हैं,फिर चाहे वह खाद्य सामग्री हो या स्वास्थ्य का मामला हंस फाउंडेशन आज बड़े स्तर पर ऑपरेशन नमस्ते अभियान के माध्यम से लाखों लोगों तक मदद पहुंचा रहा है। यह यकीनन हम सब के लिए गर्व की बात हैं की हंस फाउंडेशन जैसी संस्था हमारे साथ खड़ी है। इस राज्य की जनता को माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आशीर्वाद ऐसे ही मिलता रहे,तो निश्चित तौर पर हम हर महामारी को मात दे सकते है। आपको बता दें कि आज पूरा देश कोरोना वायरस के खतरे से सहमा हुआ है। देश समेत अन्य कई देशों में लोगों का अमूल्य जीवन दांव पर लगा हैं। ऐसे में सरकार भी काफी सजगता से कार्य कर रही हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का एलान किया है। जिसके बाद पूरा देश एकजुट हो कर सामने आया है। इस विकट परिस्थिति में असहाय लोगों की मदद के लिए समाज के सभी वर्गों के लोगों ने भी हाथ बढ़ाए है। इस लीक में कोविड-19 की विकट परिस्थिति में हंस फाउंडेशन द्वारा माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के सानिद्धय में देश में जरूरतमंदों के लिए अन्नदाता बनकर उनके साथ खड़ा है। यही वजह हैं कि आज देश के हर कोने पर खड़ा व्यक्ति पूर्ण विश्वास के साथ कह रहा हैं कि इस संकट के समय में वह खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित महसूस इस लिए कर रहा हैं कि किसी भी आपात स्थिति में माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आशीर्वाद उनके साथ है। उत्तराखंड को कोविड-19 से हम सब मिलकर जल्द से जल्द उभार देंगे-माता मंगला जी उत्तराखंड में और अधिक से अधिक लोगों तक मदद पहुँचे,लोग इस संकट से जल्द से बाहर निकले इसे ध्यान में रखते हुए हंस फाउंडेशन के प्ररेणास्रोत माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 करोड़ 51 लाख रुपये की राशि प्रदान की,जिसका पत्र गुरुवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी को सौंपा गया। इस मौके पर माता मंगला जी ने कहां कि आज कोविड-19 संक्रमण के चलते पूरा विश्व संकट में है। इस विकट परिस्थिति में हम सबकी कुशलता के लिए कामना करते है। साथ ही हम देश-प्रदेश की जनाता से अपील करते हैं कि कोविड-19 से बचाव का एक ही रास्ता है,एकता और इस एकता के साथ हमें,सरकार द्वारा बनाए गए दिशा-निर्देशों का पालन करना है। हम हंस फाउंडेशन के माध्यम से देश भर में लॉकडान में फसे परिवारों को निरंतर सहयोग पहुंचा रहे है। उत्तराखंड,दिल्ली,उत्तर प्रदेश,महाराष्ट्र,मध्यप्रदेश,गुजरात, पंजाब,राजस्थान,हिमाचल प्रदेश और देश के तमाम दूसरे राज्यों में इस संकट से जूझ रहे लाखों परिवारों तक हम खाद्य सामग्री पहुंचा चुके हैं,और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है। माता मंगला जी ने कहा कि हम देश भर में उन लोगों को डिजिटल इंडिया के माध्यम से सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुए खाद्य सामग्री उपलब्ध करवा जो इस संकट के समय में बहुत जरूरतमंद है। इसी के साथ उत्तराखंड सहित देश के अन्य राज्यों में कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क और सैनिटाइजर वितरित किए जा रहे है। कोविड-19 संक्रमण से निपटने के लिए देश के कई अस्पतालों को सक्षम बनाने में सहयोग प्रदान किया जा रहा है। माता मंगला जी ने कहा कि हम प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाते है कि हंस फाउंडेशन हमेशा से राज्य के हित में कार्य कर रहा है और भविष्य में भी करता रहेगा। हम सब बहुत जल्द कोरोना वायरस महामारी से निकलकर एक खुशहाल प्रदेश के निर्माण के लिए आगे बढ़ेगें। हंस फाउंडेशन के आपरेशन नमस्ते अभियान के मुरीद हुए राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कोविड-19 संक्रमण से बचने और देश के हर कोने में लॉकडाउन के चलते फंसे लाखों गरीब और निर्धन तक सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुए डिजिटल इंडिया के माध्यम से खाद्य सामग्री पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हंस फाउंडेशन के के आपरेशन नमस्ते अभियान की चर्चा अब देश के हर राज्य में हो रही है। कई राज्यों ने तो इस अभियान का अनुसण करते हुए। अपने राज्यों में भी इसे लागू कर दिया है। यही कराण हैं कि उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य,मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,सरकार के मंत्री एवं प्रदेश के वरिष्ठ नेता भी माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के सानिद्धय में चल रहे ‘आपरेशन नमस्ते अभियान’ के मुरीद हो गए है। जिसके बारे में इनका कहना हैं कि यह गरीब और निर्धन परिवारों की मदद करने के लिए अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण अभियान है। जो सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुए डिजिटल इंडिया के माध्यम से लाखों गरीब परिवारों तक राशन,मास्क और तमाम दूसरी सेवाओं को पहुंचाने में साहयक हो रहा है। हम इस अभियान के को चलाने के लिए माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते है कि आपके आशीष से इस संकट के समय में देश में लाखों लोगों को मदद मिल रही है।

© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: