सोमवार, 15 जुलाई 2024 | 04:48 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | रोजगार | गोबर के बाद अब गोमूत्र भी खरीदेगी ये सरकार, 4 रुपये लीटर बिकेगा गोमूत्र

गोबर के बाद अब गोमूत्र भी खरीदेगी ये सरकार, 4 रुपये लीटर बिकेगा गोमूत्र


हिन्दू वोटों के ध्रवीकरण की सियासत में चाहे और कुछ भी हो न हो, गाय पालने वाले किसानों का ज़रूर थोड़ा भला हो रहा है। कई बीजेपी शासित राज्यों ने जहां गाय के गोबर को डेढ़ रुपये किलो खरीदने का ऐलान किया है, वहीं कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार ने अब गोबर के साथ गोमूत्र खरीदने का भी ऐलान करके किसानों की बांछे खिला दीं। बताते हैं कि गोबर खरीद से किसानों की कमाई काफी बढ़ी है और गोमूत्र की बिक्री से भी बड़ा फायदा होने की उम्मीद है। 

 


कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने ऐलान किया है कि 28 जुलाई को हरेली त्यौहार से गोमूत्र खरीद योजना शुरू हो जाएगी। बघेल सरकार गाय के गोबर को डेढ़ रुपये किलो खरीद रही है। यूपी सहित कई बीजेपी शासित राज्य भी गाय का गोबर इसी मूल्य पर लेते हैं। भूपेश बघेल ने इसे गोधन न्याय योजना नाम दिया है। उनका कहना है कि इससे दूध न देने वाले गाय और कमजोर बैलों को भी जीवनदान मिलेगा। सरकार कहती है कि वो गोमूत्र से कीटनाशक और फंगीसाइट बनवाएगी और जो गोबर खरीद रही है, उससे वर्मी कंपोस्ट यानी जैविक खाद तैयार होती है। बताते हैं कि कई जिलों में किसान एक लाख रुपये तक का गोबर बेच रहे हैं। 

 


बीजेपी की पूरी सियासत हिन्दू वोटों के धुर्वीकरण और गोमाता के सम्मान से जुड़ी है। मजबूरी में ही सही कांग्रेस को भी अब हिन्दू समर्थक चेहरा दिखाना पड़ रहा है। वैसे इस सियासत में किसानों का भला हो रहा है, ये अच्छी बात है। गायों के लिए अच्छी बात ये है कि गोबर और गोमूत्र फालतू न चला जाए, इसलिए किसान गायों को छुट्टा नहीं छोड़ेंगे, जिससे दूसरों के खेत चरे जाने का खतरा भी कम होगा। अब कांग्रेस को इसका सियासी फायदा कितना होगा, ये देखने वाली बात होगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: