मंगलवार, 30 नवंबर 2021 | 03:45 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पतंजलि विश्वविद्यालय,हरिद्वार के प्रथम दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडलिस्ट विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि          ओमीक्रॉन कोरोना वेरिएंट की भारत में हुई एंट्री          वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड बनेगा हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यःसीएम पुष्कर सिंह धामी          सीएम पुष्कर धामी ने राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में किया प्रतिभाग,गायक जुबिन नौटियाल को किया सम्मान          1 दिसंबर से सउदी अरब जा सकेंगे भारतीय          उत्तराखंड में कोरोना काल में सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि          T20 रैंकिंग में रोहित शर्मा को हुआ फायदा          15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को किए जाने के सीएम धामी ने दिए निर्देश          सीएम योगी आदित्यनाथ एवं सीएम पुष्कर धामी की लखनऊ में हुई बैठक में निपटा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड का 21 वर्ष पुराना विवाद         
होम | उत्तराखंड | यमकेश्वर में पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने किया हिमालयन हेम्प इको स्टेट प्रोजेक्ट का उद्घाटन

यमकेश्वर में पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने किया हिमालयन हेम्प इको स्टेट प्रोजेक्ट का उद्घाटन


पौड़ी के यमकेश्वर ब्लॉक के ग्राम फलदाकोट मल्ला में पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इंडस्ट्रियल हेम्प से निर्मित हिमालयन हेम्प इको स्टेट प्रोजेक्ट का उदघाटन किया। उन्होंने कहा कि यह प्रोजेक्ट रोजगार सृजन में कारगर होगा और स्थानीय उत्पादों को इससे बढ़ावा मिलेगा।

आपको बता दें कि स्थानीय उत्पादों के बेहतर इस्तेमाल का उदाहरण बनी इस बिल्डिंग में हेम्प की लकड़ी एवं रेशे से मोनोलिथ वाल्स, ब्लॉक मेसनरी, वाल प्लास्टर एवं रूफ इंसुलेशन का निर्माण कार्य किया गया है। हेम्प के बीज के तेल से इस भवन की लकड़ियों पर पोलिश किया गया है। और खास बात यह है कि इस इमारत में उपयुक्त चादर, तकिये कवर, इत्यादि भी हेम्प के रेशे से निर्मित उपयोग में लाये गए हैं।

यहाँ गढ़वाल की पारंपरिक वास्तु शैली को आधुनिक हेम्पक्रेट टेक्नोलॉजी के साथ प्रयोग में लाया गया है। इस भवन में 3 मेगावाट के सोलर पेनल्स लगे हैं जो इमारत पर खपत होने वाली रोज़मर्रा बिजली खुद पैदा करने में सक्षम है। वेस्ट वाटर को भी किचन गार्डन में डाइवर्ट किया गया है। बिल्डिंग में तड़ित चालक यंत्र लगा हुआ है जिससे आस पास की इमारतें भी बिजली से सुरक्षित रहेंगी।

पूर्व सीएम ने कहा कि स्थानीयता को प्रोत्साहन और कम संसाधनों का बेहतर उपयोग कर कई समस्याओं को समाधान आसानी से किया जा सकता है। कार्य की यह संस्कृति हर जगह अपनाई जानी चाहिए। उन्होंने हिमालयन हेम्प इको स्टेट की पूरी टीम को शुभकामनाएं भी दी।

इस मौके पर कार्यक्रम में दिनेश भट्ट,ज्येष्ठ प्रमुख,सत्या हर्षवाल,प्रधान उमड़ा,बालम सिंह,पूर्व प्रधान फलदाकोट,मेनका देवी,प्रधान,फलदाकोट,हरेंद्र सिंह रावत,पूर्व प्रधान बिनक,हरेंद्र सिंह रौथान,पूर्व प्रधान ब्वांग,ऋषि कंडवाल,संस्थापक, बालमैत्री शिशु संस्थान,सुनील बरथवाल,प्रधान मागथा एवं प्रबंधक इंटर कॉलेज पोखरखाल,नीरज पायल,प्रेम नौटियाल और ध्यान पाल सिंह भी मौजूद थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: