मंगलवार, 16 जुलाई 2019 | 04:02 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
दिल्ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, गर्मी और उमस से मिली राहत          हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत गिरने की वजह से अब तक सेना के 6 जवानों सहित सात लोगों की मौत           भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम दो खेमों में बंट गई है          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          अयोध्या केस मध्यस्थता पैनल 18 जुलाई को पेश करे रिपोर्ट, सुप्रीम कोर्ट का निर्देश          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | क्राइम | इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहा बुजुर्ग

इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहा बुजुर्ग


दिल्ली को दिलवालों की नगरी कहा जाता है, लेकिन एक सच यह भी है कि यहां क्राइम लगातार बढ़ता जा रहा है। दिल्ली पुलिस चाहे जितना मुस्तैद होने का दावा करें, लेकिन यह दावा उस दिन झूठा शाबित हो  जाता है जिस दिन इस तरह की घटनाएं सामने आ जाती हैं। जिसके बाद अब यह कहना कि दिल्ली अब बेदिल हो चुकी है पूरी तरह से ठीक होगा। जी हां, दिल्ली के गोल मार्केट में रहने वाले 90 वर्षीय पीसी राय की कहानी भी कुछ ऐसी है कि उन्हें इस उम्र में न्याय पाने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। वहीं दिल्ली पुलिस कागजी कार्यवाही कर अपना फर्ज पूरा कर चुकी है।

 


बता दें, कि गोल मार्केट स्थित सरकारी क्वार्टर में रहने वाले पीसी राय 5 जनवरी को एटीएम से पैसे निकालने गए थे, तभी एक व्यक्ति ने मदद की पेशकश की, जिसने बाद पीसी राय को लगा कि वह व्यक्ति उनकी मदद करेगा, लेकिन हुआ कुछ और। पैसे निकालने के बाद वह अपने घर वापस आ गए। लेकिन अगले दिन उन्हें पता चला कि उनका एटीएम कार्ड चेंज हो चुका है, जिसके बाद उन्होंने तुरंत बैलेंस चेक किया, तो पता चला कि उनके एकाउंट से किसी व्यक्ति ने 75 हजार रूपये निकाल लिए हैं। इस बात की जानकारी होते ही परिजनों के साथ जाकर तुरंत मंदिर मार्ग थाने में शिकायत पत्र दिया, लेकिन इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं किया। इस मामले में लगभग 13 दिन बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस की तरफ से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि पुलिस को इस केस से संबंधित सारी जानकारी पहले ही मुहैया कराई जा चुकी है। वहीं बुजुर्ग अब भी इंसाफ पाने के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहा है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: