शनिवार, 29 जनवरी 2022 | 06:02 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम योगी ने प्रयागराज में अतीक से मुक्त भूमि पर किया शिलान्यास, बोले- दीवारों से निकल रहा गरीबों का पैसा          राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पतंजलि विश्वविद्यालय,हरिद्वार के प्रथम दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडलिस्ट विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि          ओमीक्रॉन कोरोना वेरिएंट की भारत में हुई एंट्री          वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड बनेगा हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यःसीएम पुष्कर सिंह धामी          सीएम पुष्कर धामी ने राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में किया प्रतिभाग,गायक जुबिन नौटियाल को किया सम्मान          1 दिसंबर से सउदी अरब जा सकेंगे भारतीय          उत्तराखंड में कोरोना काल में सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि          T20 रैंकिंग में रोहित शर्मा को हुआ फायदा          15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को किए जाने के सीएम धामी ने दिए निर्देश          सीएम योगी आदित्यनाथ एवं सीएम पुष्कर धामी की लखनऊ में हुई बैठक में निपटा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड का 21 वर्ष पुराना विवाद         
होम | देश | चुनाव आयोग की बैठक में आज 5 चुनावी राज्यों के लिए होगा बड़ा ऐलान

चुनाव आयोग की बैठक में आज 5 चुनावी राज्यों के लिए होगा बड़ा ऐलान


देश के पांच राज्यों के लिए विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान हो चुका है।
चुनाव आयोग ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रान के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए महत्वपूर्ण फैसला लिया था, जिसके बाद से उनपर प्रतिबंध लग गया था। दरअसल ओमिक्रान के मामलों में वृद्धि होने की वजह से पांच चुनावी राज्यों में रैलियों, रोड शो और नुक्कड़ सभाओं पर लगी रोक को 15 जनवरी से आगे बढ़ाया जाए या नहीं। ऐसा माना जा रहा है कि यह रोक फिलहाल आगे भी जारी रह सकती है। क्योंकि केंद्रीय चुनाव आयोग आज रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक को लेकर अपना आदेश जारी कर सकता है। चुनाव आयोग ने आठ जनवरी को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा करते हुए बढ़ते संक्रमण के चलते 15 जनवरी तक सार्वजनिक रैलियों, रोड शो और नुक्कड़ सभाओं पर प्रतिबंध लगाने संबंधी कदम उठाया था। इस दौरान सार्वजनिक सड़कों और चौराहों पर नुक्कड़ सभा करने पर रोक लगाई गई थी। हालांकि, सीमित संख्या में लोगों के घर-घर जाकर प्रचार करने की अनुमति दी गई थी।

आयोग ने सभी राजनीतिक दलों से आग्रह करते हुए डिजिटल माध्यम से प्रचार करने के लिए कहा था। साथ ही कहा था कि सरकारी प्रसारक दूरदर्शन के माध्यम से चुनाव प्रचार के लिए राजनीतिक दलों को मिलने वाले समय को दोगुना किया जाएगा। बता दें कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से शुरू होकर 7 मार्च तक चलेंगे और मतगणना 10 मार्च को होगी। इसलिए चुनावो को लेकर बड़ा ऐलान हो सकता है



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: