सोमवार, 23 सितंबर 2019 | 09:26 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सेंसेक्स के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी तेजी, 1 दिन में ही निवेशकों को 7 लाख करोड़ रुपए का फायदा          इंतजार खत्म- वायुसेना को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, दिया गया नए वायुसेना प्रमुख का नाम          जीएसटी काउंसिल की बैठक: ऑटो सेक्टर को नहीं मिली राहत, होटल कमरों पर कम हुई टैक्स दर          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          मौत का एक्सप्रेस वे बना यमुना एक्सप्रेस वे, इस साल हादसों में गई 154 लोगों की जान          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | देहरादून में शुरु हुई ई-चालान की व्यवस्था

देहरादून में शुरु हुई ई-चालान की व्यवस्था


राजधानी देहरादून में ई-चालान व्यवस्था लागू हो गई है। इस सुविधा के बाद वाहन चालकों को अब ट्रैफिक ऑफिस में कतार में लगने के झंझट से मुक्ति मिलेगी। वहीं पहले दिन दिलाराम चैक पर यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर कई वाहनों का चालान किया गया। एसएसपी देहरादून अरूण मोहन जोशी ने बताया कि पुलिस मुख्यालय से 136 ई-चालान मशीन प्राप्त हुई हैं। दिलाराम चैक से इसका प्रयोग शुरू किया गया। इस दौरान यातायात नियमों की अनदेखी करने वाले कई वाहन चालकों का चालान भी किया गया। उन्होंने बताया कि ई-चालान मशीनों में वाहन संख्या दर्ज करते ही वाहन की समस्त जानकारी आरसी, इंश्योरेंस, परमिट और प्रदूषण प्रमाणपत्र की वैधता प्राप्त हो जाएगी। इन मशीनों के माध्यम से चालान प्रक्रिया के दौरान गलत नंबर प्लेट से चलने वाले वाहन और जाली ड्राईविंग लाइसेंस लेकर वाहन चलाने वालों को पकड़ना आसान हो जाएगा। साथ ही एसएसपी देहरादून ने बताया कि ई-चालान मशीन के माध्यम से अब ऑनलाइन चालान की धनराशि का भुगतान किया जा सकता है। 

 ई-चालान के बाद वाहन स्वामी की ओर से पूर्व में हुए चालान, भुगतान, डीएल नम्बर, घर का पता, देश भर के थानों में दर्ज मुकदमे, सजा या अन्य अपराधों का डाटा भी सामने दिखेगा। यहीं नहीं गाड़ी का गलत नम्बर होने पर भी ई-चालान से गलती पकड़ में आ जाएगी। 

क्या है ई चालान

ई चालान एक सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन है, जो एंड्रॉयड बेस्ड मोबाइल एप और वेब इंटरफेस पर काम करता है। इस एप को वाहन और सार्थी एप्लिकेशन के जोड़ा गया है। इस एप पर आपको विभिन्न प्रकार के यूजर फ्रेंडली फीचर मिलते हैं। हालांकि इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से ट्रैफिक इंफोर्समेंट सिस्टम के रूप में होता है। 

ई चालान से क्या होगा फायदा
ई चालान का इस्तेमाल करने से आपका कीमती वक्त बचेगा। साथ ही आपको चालान भरने के लिए किसी दफ्तर भी नहीं जाना होगा। इसके इस्तेमाल से रेवेन्यू घाटे को कम किया जा सकेगा और सिस्टम में पारदर्शिता आएगी। 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: