बुधवार, 12 अगस्त 2020 | 08:46 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की नींव, देश भर में घर-घर दीप प्रज्ज्वलित कर मनाई जा रही है खुशियां          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           कोटद्वार में अतिवृष्टि से सड़क पर आया मलबा, बरसाती नाले में बही कार, चालक की मौत          चारधाम देवस्थानम बोर्ड मामले में उत्तराखंड सरकार को बड़ी राहत,सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका हाईकोर्ट          प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की केदारनाथ के निर्माण कार्यों की समीक्षा, कहा धाम के अलौकिक स्वरूप में और भी वृद्धि होगी          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | इंडिया सस्टेनेबल डायलाग 4.0 में पहुंच आरुषि निशंक

इंडिया सस्टेनेबल डायलाग 4.0 में पहुंच आरुषि निशंक


सुप्रसिद्ध पर्यावरणविद्, समाज सेविका, कत्थक नृत्यांगना, फिल्म निर्मात्री, कवित्री, व्यवसायी व नमामि गंगे परियोजना की प्रमोटर आरुषि निशंक ने इंडिया सस्टेनेबल डायलाग ४.० में  अपने विचार रखे। यह कार्यक्रम यू एन ग्लोबल कॉम्पैक्ट द्वारा आयोजित गया था। जिसमें आरुषि निशंक ने क्लाइमेट एक्शन मूविंग इकोसिस्टम फ्रॉम ग्रे टू ग्रीन पर चर्चा की. कार्यक्रम में अनेक गणमान्य व बुद्धिजीवी लोगों ने अपने विचार साझा किए।

इस अवसर पर बोलते हुए, सुश्री आरुषि निशंक ने उन्नत अनुसंधान और उद्योग नवीनतम घटनाओं पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कहा, “हरित बुनियादी ढाँचे के कई आर्थिक, सामाजिक और पर्यावरणीय लाभ हैं। जिनमें रोजगार में वृद्धि, वायु और ध्वनि प्रदूषण से राहत, तूफान प्रबंधन, जैव विविधता में संतुलन और इमारतों की बेहतर बाजार क्षमता शामिल हैं।

आपको बता दें कि आरुषि केंद्र सरकार की नमामि गंगे परियोजना की प्रमोटर हैं और साथ ही साथ हिमालय तथा नदियों की स्वछता अवा संवर्धन के समर्पित अभियान स्पर्श गंगा की राष्ट्रीय संयोजक भी हैं। इसके अलावा इनके द्वारा महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में देश विदेश में अनेक कार्यक्रम आयोजित करती आ रही हैं।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: