सोमवार, 24 फ़रवरी 2020 | 07:26 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | धर्म-अध्यात्म | शुक्रवार को मनाया जाएगा धनतेरस,जाने धनतेरस पर क्या खरीदें,क्या ना खरीदें

शुक्रवार को मनाया जाएगा धनतेरस,जाने धनतेरस पर क्या खरीदें,क्या ना खरीदें


धनतेरस का पर्व कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि पर मनाया जाता है। धनतेरस पांच दिनों तक चलने वाले दिवाली महापर्व का पहला दिन होता है। इस बार 25 अक्तूबर को धनतेरस है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान धन्वंतरि का जन्म हुआ था। समुद्रमंथन के दौरान पैदा हुए भगवान धन्वंतरि के हाथ में अमृत कलश था। धनतेरस पर बर्तन की खरीदारी करने की परंपरा है और ऐसा कहा जाता है जो भी व्यक्ति इस दिन घर पर नई चीजें लाता है उसमें 13 गुना की वृद्धि होती है। धनतेरस के दिन शुभ मुहूर्त में नई वस्तुएं खरीदनी चाहिए। इस दिन बर्तन, सोने, चांदी की वस्तुएं सबसे ज्यादा खरीदी जाती हैं। धनतेरस पर कई लोग धनिया के बीज भी खरीदते हैं। फिर दिवाली वाले दिन इन बीजों को लोग अपने बाग-बगीचों में बोते हैं।

इसी के साथ धनतेरस पर बर्तन खरीदने का भी रिवाज है। लेकिन धनतेरस पर हम अक्सर एक गलती करते हैं स्टील, एलूमिनियम, लोहा, प्लास्टिक, कांच और चीनी की वस्तुएं भी ले आते हैं लेकिन ज्योतिषियों के अनुसार इन चीजों को खरीदने से बचना चाहिए और सिर्फ 6 तरह की चीजें ही लेकर आनी चाहिए। आइए हम आपको बताते हैं कि वह कौन सी चीजें है जो हमें धनतेरस पर खरीदनी चाहिए।

सोना- सबसे शुभ और सबसे श्रेष्ठ धातु सोना ही मानी गई है। अत: संभव हो तो सामर्थ्य अनुसार सोना खरीदें।

चांदी- चांदी सबसे शांत, शीतल और पवित्र धातु है। अगर सोना लेना संभव नहीं है तो चांदी को प्राथमिकता दें।

पीतल- अगर सोना और चांदी दोनों ही लेना संभव नहीं है तो पीतल तीसरी सबसे अच्छी धातु मानी गई है। धनतेरस पर पीतल की वस्तुएं घर में शुभता लेकर आती हैं।

तांबा- अगर पीतल भी संभव नहीं है तो आप तांबे की वस्तुएं या बर्तन ला सकते हैं। यह सेहत के लिए भी शुभ है,पूजा के लिए भी और जीवन के लिए भी।

कांसा- आप इस दिन कांसे की सजावटी वस्तुएं या बर्तन भी ले सकते हैं।

मिट्टी- अगर आप खरीदने की इतनी भी क्षमता नहीं रखते हैं तो निराश न हों मिट्टी इन सबसे अधिक सस्ती और सबसे अधिक शुभ व पवित्र है। अत: आप मिट्टी की विविध प्रकार की चीजें ले सकते हैं। धनतेरस से लेकर दीपावली तक मिट्टी और टेराकोटा की कई सामग्री बाजार में उपलब्ध हैं आप अपनी जरूरत और पसंद के अनुसार इन्हें अपने घर ला सकते हैं।

क्या न खरीदें

ज्योतिष के अनुसार, धनतेरस के दिन भूलकर भी लोहे की बनी कोई भी चीज ना खरीदें। इस दिन लोहा खरीदना बहुत अशुभ माना जाता है। इससे आपके जीवन पर नकारात्मक असर पड़ता है
धनतेरस के दिन कांच या फिर कांच की बनी चीजें नहीं खरीदना चाहिए। कांच का संबंध राहु से है और राहु नीच ग्रह माना जाता है। इसलिए धनतेरस के दिन ग्रह-नक्षत्रों को सही रखने के लिए कांच से संबंधित चीजें ना खरीदें।
धनतेरस पर एल्युमिनियम का बर्तन भी खरीदना वर्जित है। इसका संबंध भी राहु से होता है इसलिए इसको शुभ नहीं माना जाता है। यही कारण कि एल्युमिनियम का प्रयोग पूजा-पाठ में नहीं किया जाता है।

धनतेरस के दिन किचन में काम आने वाली वस्तुएं जैसे नुकीला वस्तु, चाकू और लोहे के बर्तन नहीं खरीदना चाहिए।

 काले रंग की वस्तुएं ना खरीदें।
आरी, चाकू, कैंची इत्यादि धारदार वस्तुएं भी नहीं खरीदनी चाहिए।

 एक अत्यंत महत्वपूर्ण बात यह है कि इस दिन लोग वाहन चाहे वो मोटरसाइकिल हो या कार हो लोग खूब खरीददारी करते हैं। वाहन खरीदने में कोई बुराई नहीं है लेकिन उसका पेमेंट एक दिन पूर्व ही कर दें।
यदि आप कोई पात्र खरीदते हैं तो उसको खाली अर्थात रिक्त पात्र घर में मत लाएं। उसमें अनाज या फल इत्यादि भर लें।
प्रायः बच्चे साईकल खरीदने की जिद करते हैं तो इस दिन यह जिद पूरी मत करें। इसको एक दिन पहले खरीद सकते हैं।

 प्रायः इस दिन घर के गार्डेन के लिए पौधे भी खरीदते हैं तो इस दिवस पर कांटेदार पौधे घर पर विशेषकर नागफनी इत्यादि मत लाएं।
धनतेरस शुभ मुहूर्त और पंचांग
धनतेरस तिथि- 25 अक्टूबर
त्रयोदशी तिथि प्रारंभ- शाम 7 बजकर 8 मिनट
त्रयोदशी तिथि समाप्त- 26 अक्टूबर दोपहर 3 बजकर 36 मिनट पर

धनतेरस पूजा मुहूर्त- 25 अक्टूबर 2019
शाम 7. 08 मिनट से 08. 14 तक
प्रदोष काल- शाम 05.38 मिनट से रात 08.13 तक
वृषभ काल- शाम 06 .50 मिनट से रात 08 .45 मिनट तक

धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त
धनतेरस पर खरीदारी करने का शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 43 मिनट से लेकर 7 बजकर 8 मिनट तक रहेगा। 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: