बुधवार, 26 जून 2024 | 04:16 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | सेहत | देहरादून के आसपास डेंगू ने बरपाया कहर, एक ही दिन में हजार मरीज

देहरादून के आसपास डेंगू ने बरपाया कहर, एक ही दिन में हजार मरीज


देहरादून में डेंगू के लक्षणों वाले मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। गुरुवार को जिलेभर में एक दिन में करीब एक हजार  मरीजों की एलाइजा जांच कराई गई। उधर, गुरुवार को पांच नए केस भी सामने आए। दून में डेंगू के बढ़ते मामलों के बीच एक हफ्ते के भीतर प्लेटलेट्स की डिमांड दोगुनी हो गई है। डेंगू पॉजिटिव न होने के बाद भी मरीजों को प्लेटलेट्स चढ़ाने की जरूरत पड़ रही है। ब्लड बैंकों पर क्षमता से ज्यादा दबाव बढ़ गया है। कई ब्लड बैंक डिमांड के सापेक्ष 60 फीसदी मरीजों की ही पूर्ति कर पा रहे हैं।
गुरुवार को मेहूंवाला में दो, धर्मपुर, बंजारावाला एवं जीएमएस रोड में एक, एक मरीज में डेंगू मिला, जिनमें से एक कोरोनेशन, जबकि चार मरीज श्रीमहंत इन्दिरेश अस्पताल में भर्ती किए गए। 13 मरीजों को विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दी गई है। 24 मरीजों का उपचार जारी है।
दून अस्पताल के ब्लड बैंक की डॉ. नेहा बत्रा का कहना है कि आरडीपी के लिए समान ग्रुप की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि इसके लिए डॉक्टर से लिखवाकर लाना होता है। उधर, दून अस्पताल की ओपीडी 2000 से नीचे नहीं आ रही। पंजीकरण प्रभारी विनोद नैनवाल के मुताबिक, गुरुवार को ओपीडी में 2064 मरीज पहुंचे।
दून अस्पताल में इस वक्त मरीजों का भारी दबाव है। मेडिसिन के 150 एवं बाल रोग विभाग के 105 बेड फुल चल रहे हैं। एचओडी मेडिसिन डॉ. नारायणजीत सिंह ने बताया कि भर्ती मरीजों में से जिनकी हालत सामान्य होती है, उन्हें सुबह नौ बजे से डिस्चार्ज करना शुरू कर दिया जाता है। खाली हुए बेड पर इमरजेंसी से मरीजों को शिफ्ट किया जाता है और ओपीडी से आने वालों को भर्ती किया जा रहा है।
दून अस्पताल में डेंगू के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यहां 30 बेड का नया वार्ड खोल दिया गया है। अभी तक यहां पर 30 बेड के दो वार्ड थे। गुरुवार को प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने इंतजामों को लेकर एमएस डॉ. अनुराग अग्रवाल एवं डीएमएस डॉ. धनंजय डोभाल संग चर्चा की। एमएस ने बताया कि सर्जरी के वार्ड-आठ के 30 बेड को डेंगू मरीजों के लिए खोल दिया गया। 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: