रविवार, 27 सितंबर 2020 | 08:41 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
टाइम मैग्जीन ने जारी की दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट,पीएम मोदी लिस्ट में इकलौते भारतीय ने          पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर,बताए अपनी फिटनेस के सीक्रेट          डीआरडीओ को मिली बड़ी कामयाबी,अर्जुन टैंक से लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण          ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर डीन जोन्स का मुंबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन          पॉलिसी उल्लंघन के कारण गूगल ने पेटीएम को हटाया,पेटीएम ने कहा,पैसे हैं सुरक्षित          प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को आश्वस्त किया कि लोकसभा से पारित कृषि सुधार संबंधी विधेयक उनके लिए रक्षा कवच का काम करेंगे           उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | क्राइम | दिल्ली में हिंसा तो थम गई लेकिन मौतें नहीं

दिल्ली में हिंसा तो थम गई लेकिन मौतें नहीं


करीब तीन दिनों तक देश की राजधानी दिल्ली के जलने के बाद अब जाकर माहौल शांत हुआ है। लेकिन मौतों का आंकड़ा न तो कम होने का नाम ले रहा और न ही उन लोगों की चीखे जिन्होने अपने परिजनों को खोया है। हिंसा में मरने वालों की संख्या 30 को पार कर चुकी है। अभी भी घायल लोगों की हालते बेहद गंभीर बनी हुई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा किया. इस दौरान सीएम केजरीवाल ने शांति बनाए रखने की अपील की है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि नुकसान सबका हो रहा है। शांति बनाए रखें। वहीं उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अफवाहों में न आएं और शांति बनाए रखें। पुलिस और सुरक्षाबल लगातार हिंसा प्रभावित इलाकों में फ्लैग मार्च निकाल रही है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर रही है। हाई कोर्ट की फटकार के बाद केंद्र और राज्य सरकार एक्शन में आई है, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर दिल्ली की सड़कों पर उतर लोगों से बात की और उन्हें भरोसा दिलाया। दिल्ली की स्थिति बेहद संवेदनशील बनी हुई है। हालकि अभी तक मामला शांत है। लेकिन दिल्ली की बदहाल हालत देखकर हर कोई सोचने पर मजबूर कि दिल्ली को ऐसा किसने जला दिया।     



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: