रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 02:56 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | दिल्ली में 5 नवबंर तक सभी स्कूल बंद,प्रदूषण बेहद गंभीर स्तर तक पहुंचा हेल्थ इमरजेंसी लागू

दिल्ली में 5 नवबंर तक सभी स्कूल बंद,प्रदूषण बेहद गंभीर स्तर तक पहुंचा हेल्थ इमरजेंसी लागू


दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ते खतरे को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित पैनल ने दिल्ली -एनसीआर ने पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा की है। अब दिल्ली और आसपास के इलाकों में पांच नवंबर तक कोई भी निर्माण कार्य नहीं हो सकेंगे। पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम व नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने प्रदूषण के बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंचने पर पूरी ठंड के दौरान पटाखे फोड़ने पर भी प्रतिबंध लगा दिया। ईपीसीए के अध्यक्ष भूरे लाल ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि गुरुवार रात दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता बहुत खराब हो गई और वह अब बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंच गई है। उन्होंने कहा,हम इसे एक जन स्वास्थ्य आपातकाल की तरह ले रहे हैं क्योंकि वायु प्रदूषण का स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव होगा, विशेषकर बच्चों के स्वास्थ्य पर।प्रदूषण से है इन गंभीर समस्याओं का खतरा गौरतलब है कि यह प्रदूषण का स्तर खतरनाक श्रेणी में आता है। दिल्ली की हवा में प्रदूषण बढ़ने से इसका सबसे अधिक बुरा असर आंखों पर पड़ता है। इसके अलावा वायु प्रदूषण के कारण जुकाम,सांस लेने में तकलीफ, आंखों में जलन, खांसी, टीबी और गले में में इन्फेक्शन, साइनस, अस्थमा और फेफड़ों से सम्बंधित बीमारियां हो सकती हैं। हवा खराब होने से सबसे ज्यादा आंखों और फेफड़ों पर असर पड़ता है। प्रदूषण ख़राब होने से कई लोगों को आंखों का सूखापन, कंजंक्टिवाइटिस, आंखों में जलन, आंखों में खुजली, आंखों का लाल होना, धुंधला दिखना और आंखों में दर्द सबसे अधिक खतरा होता है।

दिल्ली में वायु प्रदूषण के बेहद गंभीर स्तर तक पहुंचने के कारण दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी लागू कर दी गई है। इसी के साथ दिल्ली में 5 नवबंर तक सभी स्कूलों में छुट्टी की घोषणा कर दी गई है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: