बृहस्पतिवार, 29 अक्टूबर 2020 | 07:47 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील,सैनिक के नाम जलाएं एक दीया          विजयदशमी के पावन पर्व पर बद्री-केदार,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि का ऐलान          स्वास्थ्य मंत्रालय की देश वासियों से अपील,त्योहारों के मौसम में कोरोना को लेकर बरतें सावधानी          दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा,3737 करोड़ रुपये के बोनस का भुगतान तुरंत           भारत दौरे से पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री का बड़ा बयान लद्दाख में चीन भारत पर डाल रहा है सैन्‍य दबाव          उत्तराखंड में चिन्हित रेलवे क्रॉसिंगों पर 50 प्रतिशत धनराशि केन्द्रीय सड़क अवस्थापना निधि से की जाएगी          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड में कांग्रेस शासित राज्यों से कम महंगाई...

उत्तराखंड में कांग्रेस शासित राज्यों से कम महंगाई...


देश में महंगाई को लेकर काफी समय से विपक्ष सरकार के पीछे पड़ा है और कई सवाल उठा रहा है। इस बीच आज उत्तराखंड सरकार ने बड़ा दावा किया है। जिसमे बताया गया है कि, उत्तराखंड में कांग्रेस शासित राज्योंसे ज्यादा महंगाई है। सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि खाद्यान्न, खाद्य तेल, आलू, प्याज, दालों, गुड़, दूध समेत विभिन्न वस्तुओं के दाम अन्य राज्यों की तुलना में नियंत्रण में हैं। कोरोना काल में राज्य के 1.80 लाख अंत्योदय परिवारों और 11.67 लाख प्राथमिक परिवारों को प्रधानमंत्री गरीब अन्न योजना के तहत मुफ्त खाद्यान्न वितरित किया जा रहा है। इसके साथ ही सार्वजनिक वितरण प्रणाली का खाद्यान्न भी दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार के साढ़े तीन साल के कार्यकाल में सात लाख से ज्यादा व्यक्तियों को रोजगार मिला है।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना, दीनदयाल उपाध्याय होमस्टे योजना समेत कई योजनाओं में स्वरोजगार को बढ़ावा दिया जा रहा है। तीन वर्षो में एक लाख तक ऋण राशि के रूप में 2037 करोड़ दिए गए हैं। 10 हजार तक रेहड़ी-ठेली वालों को ऋण के लिए अब तक 10 हजार से ज्यादा आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। इस योजना में राज्य की प्रगति को केंद्र सरकार भी सराह चुकी है। काग्रेसशासित राज्यों से ज्यादा हुई जांच शासकीय प्रवक्ता कौशिक ने कोविड-19 को लेकर सरकार की तैयारी सामने रखी। उन्होंने कहा कि 11 मार्च को विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना को महामारी घोषित करने के बाद से सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पूरी शक्ति से काम किया है।

लॉकडाउन के दौरान इन व्यवस्थाओं को बेहतर बनाया गया। विपक्षी दल कांग्रेस के कोरोना जांच पर उठाए जा रहे सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि राजस्थान, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ समेत कांग्रेसशासित राज्यों की तुलना में उत्तराखंड में प्रति 10 लाख की आबादी पर ज्यादा जाच की। 31 हजार आइसोलेशन बेड प्रदेश में आइसोलेशन बेड 31 हजार बेड में से अभी सिर्फ 6000 ही इस्तेमाल में लाए जा सके हैं। इसी तरह ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड 1896 हैं। इनमें से 449 का इस्तेमाल हुआ। प्रदेश में आइसीयू बेड 636 और वेंटिलेटर 605 हैं। कोरोना काल में ही 476 नियमित और 123 संविदा पर डॉक्टरों, 32 फार्मेसिस्ट, 23 लैब टेक्नीशियन की भर्ती की गई। कुल 709 भर्तिया इसी अवधि में हुई हैं। कोरोना संक्रमितों के लिए अस्पतालों और कोविड सेंटर में लगातार इजाफा किया जा रहा है। 10 कोविड डेडिकेटेड और 15 कोविड हेल्थ सेंटर बनाए गए। 411 कोविड केयर सेंटर हैं। उन्होंने विपक्ष पर कोरोना संकट के दौरान राजनीति करने का आरोप भी लगाया। इसके साथ ही कई सारे आरोप लगाकर सियासी पारा चढ़ा दिया है।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: