बृहस्पतिवार, 6 अक्टूबर 2022 | 08:08 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | देहरादून के परिवार ने बहू के साथ की हैवानियत, गर्म तवे से पूरा शरीर जला दिया

देहरादून के परिवार ने बहू के साथ की हैवानियत, गर्म तवे से पूरा शरीर जला दिया


देहरादून से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां ससुराल वालों ने दहेज की मांग पूरी न होने पर अपनी बहू को ऐसी यातनाएं दी, जिसे जानकर आपकी रुह कांप जाएगी। यहां 27 साल की महिला को उसकी सास, ससुर और भाभी ने कथित तौर पर बेरहमी से पीटा और गर्म तवे से जला दिया। इतना ही नहीं दहेज लोभियों ने महिला के कान भी काट लिए। पीड़ित महिला अब देहरादून के कोरोनेशन अस्पताल में भर्ती है।

टिहरी के जाखनी धार प्रखंड के रिंडोल गांव की रहने वाली प्रीति की 14 साल पहले शादी हुई थी। प्रीति के साथ हुई घटना का पता तब चला, जब उसने करीब दो सप्ताह तक अपने परिवार के कॉल और मैसेज का जवाब नहीं दिया। इसके बाद प्रीति की मां सरस्वती देवी और उसका भाई ससुराल पहुंचे और प्रीति को रसोई में अर्थ नग्न और जली हुई हालत में बेहोश पाया।

जाखणीधार ब्लॉक में धारमंडल के रिंडोल गांव निवासी पीड़िता प्रीति की मां सरस्वती देवी ने पुलिस को तहरीर देकर मामले की जानकारी दी। बताया कि प्रीति की शादी जीवनगढ़, विकासनगर निवासी अनूप जगुड़ी से 12 साले पहले हुई थी। बीते एक सप्ताह से वो अपनी बेटी को फोन कर रहे थे, मगर उसका मोबाइल बंद आ रहा था। अनहोनी की आशंका पर 16 सितंबर को सरस्वती देवी अपने बेटे जितेंद्र रतूड़ी के साथ बेटी की सुसराल जीवनगढ़, विकासनगर पहुंच गईं। यहां सास ने प्रीति से मिलाने से साफ इनकार कर दिया। वो जबरदस्ती घर में घुसे तो रसोई घर में प्रीति अर्द्धनग्न हालत में पड़ी मिली। उसके शरीर पर जलने के करीब 20 निशान मिले। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी। इस पर वो प्रीति को रिंडोल ले आए।

तहरीर के मुताबिक प्रीति को उसके ससुराल वाले दहेज के लिए पिछले करीब 10 साल से प्रताड़ित कर रहे थे। प्रीति ने कहा मेरी सास अक्सर मुझे जान से मारने की धमकी देती थी। जबकि मेरे ससुर ने एक चम्मच से मेरा कान भी काट दिया। इन लोगों ने मेरी पीठ, पेट और मेरे सिर को गर्म बर्तन से जलाया। मेरी सास ने मुझे कान पर इतनी तेज मारा, जिससे मेरे कान से खून बहने लगा। ये लोग मुझे बाथरूम के अंदर बंद करके पीटते थे, ताकि बाहर किसी को आवाज न जाए। इन लोगों ने मुझे भूखा मरने के लिए छोड़ दिया था। प्रीति के तीन बच्चे हैं। जिनमें 9 और 4 साल के दो बेटे और एक 8 साल की बेटी है।

एसएसपी टिहरी नवनीत सिंह ने बताया कि पीड़ित परिवार की शिकायत के आधार पर महिला की सास, ससुर और भाभी पर सीआरपीसी की धारा 307 और 167 के तहत मामला दर्ज किया गया है। प्रीति की नंद और सास, दोनों को गिरफ्तार किया जा चुका है। दोनों को कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है, जबकि आईटीबीपी में तैनात प्रीति के ससुर को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम चंडीगढ़ रवाना हुई है।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: