रविवार, 24 जनवरी 2021 | 11:47 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | क्राइम | उत्तरखंड में बढ़ी घरेलू हिंसा

उत्तरखंड में बढ़ी घरेलू हिंसा


देश और दुनिया में घरेलू हिंसा के मामले लगातार बढ़ते ही जा रही है। जिसकी वजह से लोग आत्महत्या या फिर हत्या कर रहे हैं। अब उत्तराखंड में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है। उत्तराखंड में घरेलू हिंसा के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसकी तस्तीक महिला सशक्तीकरण और बाल विकास विभाग में दर्ज शिकायतें बयां कर रही हैं। विभाग को बीते चार सालों में राज्यभर से महिला हिंसा की 2314 और बाल यौन शोषण से संबंधित 139 शिकायतें मिली हैं। महिलाओं के खिलाफ हिंसा की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार की ओर से हर राज्य में वन स्टॉप सेंटर का गठन किया गया है। इसमें पीड़ित  महिलाओं के लिए चिकित्सकीय, कानूनी व मनोवैज्ञानिक परामर्श और सहायता मुहैया कराई जाती है। इसी के तहत मद्देनजर महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग के अधीन वर्ष 2016 में राज्य के सभी जिलों में वन स्टॉप सेंटर बनाए गए थे। पिछले चार वर्षों में कुल 3359 में से 2395 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है, जबकि लंबित 964 शिकायतों पर सुनवाई जारी है। उत्तरखेड मे बढ़ रहे हिंसा के मामलो का खुलासा यहीं से हुआ है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: