बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 | 06:16 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          कांग्रेस पार्टी का बड़ा एलान, जम्मू-कश्मीर में नहीं लड़ेंगे BDS चुनाव          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           भारतीय सेना एलओसी पार करने से हिचकेगी नहीं,पाकिस्तान को आर्मी चीफ बिपिन रावत की चेतावनी          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | क्राइम | देहरादूनः दुष्कर्म पीड़िता किशोरी छह दिनों से लापता

देहरादूनः दुष्कर्म पीड़िता किशोरी छह दिनों से लापता


दुष्कर्म की एक पीड़िता छह दिनों से लापता है। पीड़िता का मुकदमा पोक्सो न्यायालय में अंतिम चरण में चल रहा है। परेशान परिजनों ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई है। परिजनों ने प्रतिवादी पक्ष पर ही लड़की को गायब करने का शक जताया है। उधर, पुलिस के अनुसार पीड़िता की तलाश की जा रही है।
 
जानकारी के मुताबिक साल 2017 में कैंट कोतवाली क्षेत्र में एक किशोरी से दुष्कर्म का मामला सामने आया था। इस संबंध में किशोरी के परिजनों ने क्षेत्र के ही एक युवक के खिलाफ कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

मुकदमे में जल्द फैसला होने वाला है

वर्तमान में इस मुकदमे का ट्रायल चल रहा है। पीड़िता और उसके परिजनों के बयान हो चुके हैं, जबकि फोरेंसिक एक्सपर्ट व पुलिस के कुछ अधिकारियों के बयान होने बाकी हैं। पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता सौरभ दुसेजा ने बताया कि मुकदमे में जल्द फैसला होने वाला है। इसी बीच पीड़िता अचानक घर से लापता हो गई। पीड़िता के भाई ने बताया कि 30 मई की शाम घर में कोई नहीं था।

इसके बाद जब परिजन घर लौटे तो उसकी बहन घर पर नहीं थी। इस पर कैंट कोतवाली में उन्होंने गुमशुदगी दर्ज कराई थी। लगातार पुलिस से गुहार लगाई जा रही है, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब पुलिस की ओर से नहीं मिल रहा है। 

मां बोली- लाश ही दे दो मेरी बेटी की

पीड़िता के लापता होने के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। पीड़िता की मां ने शक जताया है कि उसकी बेटी की हत्या भी की जा सकती है। ऐसे में यदि यह बात है तो कम से कम उसकी लाश ही ढूंढकर उन्हें सौंप दी जाए। लड़की के परिजन पुलिस के हर दर पर गुहार लगा चुके हैं। 

लड़की की तलाश चल रही है। उसके पास कोई फोन भी नहीं है तो लोकेशन आदि का भी पता नहीं चल पा रहा है, लेकिन मुखबिरों को सक्रिय किया गया है। आसपास के थानों में भी सूचना दे दी गई है। उम्मीद है कि जल्द ही लड़की के संबंध में कोई सुराग मिल सकेगा। 
साभार अमर उजाला


© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: