मंगलवार, 24 मई 2022 | 03:19 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
30 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा          शंघाई मिले कोरोना का एक दिन में 23,000 से ज्‍यादा नए मामले          रूस ने भारत को दिए एस-400 मिसाइल सिस्टम के पार्ट्स          कर्नाटक हाईकोर्ट का हिजाब विवाद पर बड़ा फैसला,हिजाब इस्लाम का हिस्सा नहीं          सीबीएसई की 10वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 24 मई तक, 12वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 15 जून तक आयोजित की जाएगी          केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जारी की टर्म 2 परीक्षा के लिए 10वीं और 12वीं की डेटशीट          आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को नए ग्राहक जोड़ने से रोका, आईटी ऑडिट का भी दिया आदेश          8 मई को खुलेंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट          कांग्रेस दफ्तरों में होगी सीडीएस जनरल बिपिन सिंह रावत और जनरल जोशी की फोटो         
होम | सेहत | देश में कम होने लगे कोरोना के मामले

देश में कम होने लगे कोरोना के मामले


देश में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच एक अच्छी खबर सामने आई है।
नए मामलों में अब कुछ कमी देखी जा रही है।स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 2 लाख 38 हजार 18  नए मामले आए हैं जबकि 310 लोगों की मौत हुई है। हालांकि, इस दौरान 1 लाख 57 हजार 421 कोरोना के मरीज ठीक हुए हैं। कुल की तुलना में आज कोरोना के 20 हजार 71 कम मामले आए हैं। सोमवार को कोरोना के 2 लाख 58 हजार 89 नए मामले सामने आए थे।
देश में वैक्सीनेशन की तेज रफ्तार जारी है।अब तक कुल 158 करोड़ से ज्यादा वैक्सीनेशन हो चुका है। देश में कल कोरोना वायरस के 16 लाख 49 हजार 143 सैंपल टेस्ट किए गए थे. कल तक कुल 70 करोड़ 54 लाख 11 हजार 425 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं।
कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से देश के राज्यों में फैल रहा है। लेकिन अच्छी बात यह है कि वायरस का स्वरूप अभी अधिक घातक नहीं दिख रहा है। संक्रमण की वजह से मरने वालों की संख्या अकसर बाद में जारी की जाती है, लेकिन महामारी की पिछली लहर से तुलना करने पर पता चलता है कि संक्रमण के मामले भले ही काफी तेजी से बढ़े हों, लेकिन मरने वालों की तादाद नहीं बढ़ी है। देश में कोविड मरीजों के मरने की दर करीब 1.3 फीसदी है। 30 दिसंबर 2021 और 16 जनवरी 2022 तक देश में संक्रमण के कुल मामले में लगभग सात फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जबकि मरने वालों की तादाद में महज 0.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। मौजूदा तीसरी लहर में जिन राज्यों में संक्रमण की वजह से सबसे ज्यादा मौत हुई, उनमें दिल्ली और पश्चिम बंगाल शामिल है। इसलिए इन राज्यों में ज्यादा पाबंदी बढ़ा दी गई है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: