रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 02:26 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | दुनिया | सांपों-चमगादड़ों से चीन में फैला वायरस पहुंचा भारत ऐसे बचें!

सांपों-चमगादड़ों से चीन में फैला वायरस पहुंचा भारत ऐसे बचें!


चीन से निकली कोरोना बीमारी धीर-धीरे दुनिया के कई हिस्सों तक फैल चुकी है। इस जानलेवा वायरस से चीन में अभ तक 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। सिर्फ चीन की बात करें तो करॉना वायरस की वजह से फैलने वाली निमोनिया जैसी बीमारी की वजह से अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है और 800 से ज्यादा मरीज इस वायरस की वजह से संक्रमित हैं। चीन के तो 13 शहरों में एक तरह से शटडाउन की स्थिति है। इन 13 शहरों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद कर दिया गया है और करोड़ों लोगों के आने जाने पर रोक लगा दी गई है। करॉना वायरस के तेजी से बढडता जा रहा है..भारत मेंभई 6 लोगंपर इसके लक्षण देखे गये हैं। कोरोना असल में वायरसों का एक बड़ा समूह है जो जानवरों में आम है। कोरोना वायरस जानवरों से मनुष्यों तक पहुंच जाता है। नया चीनी कोरोनो वायरस, सार्स वायरस की तरह है। इसके संक्रमण से बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्याएं हो जाती हैं। यह न्यूमोनिया का कारण भी बन सकता है।  कोरोना वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में आने से फैल सकता है। खांसी, छींक या हाथ मिलाना जोखिम का कारण बन सकता है। किसी संक्रमित व्यक्ति के छूने और फिर अपने मुंह, नाक या आंखों को छूने से भी वायरस का संक्रमण हो सकता है।

कोरोना वायरस के लक्षणों में नाक बहना, खांसी, गले में खराश, कभी-कभी सिरदर्द और बुखार शामिल है, जो कुछ दिनों तक रह सकता है। कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों के लिए यह घातक है। बुजुर्ग और बच्चे इसके आसान शिकार हैं। निमोनिया, फेफड़ों में सूजन, छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना भी इसके लक्षण हैं।

 

इसका अभी तक कोई इलाज नहीं है। कोरोना वायरस) की कोई वैक्सीन नहीं बनी है .......इससे बचने का यही तरीका है कि ऐहतियात बरतें। किसी बीमार, झुकाम, निमोनिया से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें। मास्क पहनें। अपनी आंखों, नाक और मुंह को न छुएं। हाथों को बार बार अच्छे से साबुन से धोएं। इसलिए इस बीमारी से बचने के लिये जागरूक रहें।  

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: