बृहस्पतिवार, 29 अक्टूबर 2020 | 07:49 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील,सैनिक के नाम जलाएं एक दीया          विजयदशमी के पावन पर्व पर बद्री-केदार,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि का ऐलान          स्वास्थ्य मंत्रालय की देश वासियों से अपील,त्योहारों के मौसम में कोरोना को लेकर बरतें सावधानी          दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा,3737 करोड़ रुपये के बोनस का भुगतान तुरंत           भारत दौरे से पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री का बड़ा बयान लद्दाख में चीन भारत पर डाल रहा है सैन्‍य दबाव          उत्तराखंड में चिन्हित रेलवे क्रॉसिंगों पर 50 प्रतिशत धनराशि केन्द्रीय सड़क अवस्थापना निधि से की जाएगी          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | सेहत | उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के काभड़ी गांव में 91 लोग कोरोना पॉजिटिव,पूरे जिले में मचा हड़कंप

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के काभड़ी गांव में 91 लोग कोरोना पॉजिटिव,पूरे जिले में मचा हड़कंप


अल्मोड़ा के धौलादेवी के काभड़ी गांव में 91 लोग कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं। इससे गांव से ज़िला मुख्यालय तक हड़कंप मच गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव के लिए रवाना हो गई है। बताया जा रहा हैं कि हाल ही में गांव लौटे एक प्रवासी में कोविड-19 की पुष्टि हुई थी जिसके हल्द्वानी में 19 सितंबर को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने ऐहतिहातन गांव में लोगों के सैंपल लिए थे। बुधवार देर रात जब इन लोगों की टेस्ट रिपोर्ट्स आईं तो इनमें 91 लोगों के पॉज़िटिव आने की पुष्टि हुई है। किसी एक स्थान से इतने सारे लोगों के कोरोना संक्रमित होने का यह पहला मामला है।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम काभड़ी गांव पहुंच गई है और आगे की कार्रवाई की जा रही है। इस गांव में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद, ख़ास बात यह है कि गांव के किसी भी व्यक्ति में कोरोना का कोई लक्षण नज़र नहीं आ रहा है यानी सभी ए-सिम्पटमैटिक हैं। 19 तारीख को गांव के प्रवासी की मौत के बाद अगर प्रशासन गांव के करीब 250 लोगों के टेस्ट नहीं करवाता तो शायद ही इतने लोगों के संक्रमित होने का पता नहीं चलता। इस में ग्राम प्रधान की रिपोर्ट भी कोविड-19 पॉज़िटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों से फिलहाल गांव में रहने को कहा है।  



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: