शुक्रवार, 7 अगस्त 2020 | 09:14 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की नींव, देश भर में घर-घर दीप प्रज्ज्वलित कर मनाई जा रही है खुशियां          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           कोटद्वार में अतिवृष्टि से सड़क पर आया मलबा, बरसाती नाले में बही कार, चालक की मौत          चारधाम देवस्थानम बोर्ड मामले में उत्तराखंड सरकार को बड़ी राहत,सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका हाईकोर्ट          प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की केदारनाथ के निर्माण कार्यों की समीक्षा, कहा धाम के अलौकिक स्वरूप में और भी वृद्धि होगी          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | उत्तराखंड में कोरोना का पहला पॉजिटिव केस मिलने से लिए गए कई फैसले

उत्तराखंड में कोरोना का पहला पॉजिटिव केस मिलने से लिए गए कई फैसले


उत्तराखंड में कोरोना का पहला केस मिलने के बाद राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एमबीबीएस के प्रथम से चतुर्थ ईयर तक के छात्र-छात्राओं का अवकाश घोषित कर दिया गया है। आदेश आज से लागू हुआ है। दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग द्वारा विदेश से लौटे 12 लोगों पर  नजर रखी जा रही है। शासन से सीएमओ को अब तक विदेश से लौटे 143 लोगों की लिस्ट मिल चुकी है। 

देहरादून से शनिवार को कोरोना संदिग्ध दो लोगों के सैंपल जांच के लिए आए थे। रविवार को राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी की वायरोलाजी लैब में कोरोना जांच के दौरान एक सैंपल पॉजिटिव आ गया। इसके बाद प्राचार्य डॉ. सीपी भैसोड़ा ने देर शाम एमबीबीएस प्रथम से चतुर्थ ईयर तक के छात्र-छात्राओं का 31 मार्च तक अवकाश घोषित कर दिया। प्राचार्य ने बताया कि एमबीबीएस फाइनल ईयर और पीजी के छात्र-छात्राओं की कक्षाएं चलती रहेंगी। 

स्वास्थ्य विभाग 33 लोगों की 14 दिनों तक निगरानी करेगा। मेडिकल कॉलेज के वायरोलाजी लैब में 16 मरीजों के सैंपल जांच के लिए आ चुके हैं। सोमवार को छह सैंपल की जांच के बाद रिपोर्ट आएगी। एसीएमओ डॉ. रश्मि पंत ने बताया कि रविवार को शासन से विदेश से लौटे 12 लोगों की लिस्ट मिली है। सभी के घर सोमवार को टीम भेजी जाएगी। 
नैनीताल जिले के चार सैंपल की जांच हुई और अब तक एक भी केस पॉजिटिव नहीं आया है। आइसोलेशन वार्ड बनाए जा चुके हैं। डॉ. राणा ने कहा कि जिन निजी अस्पतालों ने अपने यहां आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं, वो कोरोना के मरीजों को रख सकते हैं। मरीज या संदिग्ध की सूचना तत्काल स्वास्थ्य विभाग को देनी होगी। निजी अस्पताल में अगर कोई मरीज या कोरोना का संदिग्ध पहुंचता है तो उसके सैंपल की जांच कराई जाएगी। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: