बुधवार, 28 अक्टूबर 2020 | 10:27 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील,सैनिक के नाम जलाएं एक दीया          विजयदशमी के पावन पर्व पर बद्री-केदार,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि का ऐलान          स्वास्थ्य मंत्रालय की देश वासियों से अपील,त्योहारों के मौसम में कोरोना को लेकर बरतें सावधानी          दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा,3737 करोड़ रुपये के बोनस का भुगतान तुरंत           भारत दौरे से पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री का बड़ा बयान लद्दाख में चीन भारत पर डाल रहा है सैन्‍य दबाव          उत्तराखंड में चिन्हित रेलवे क्रॉसिंगों पर 50 प्रतिशत धनराशि केन्द्रीय सड़क अवस्थापना निधि से की जाएगी          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | पर्यटन | पर्यटकों के लिए आज से खुला कॉर्बेट टाइगर रिजर्व

पर्यटकों के लिए आज से खुला कॉर्बेट टाइगर रिजर्व


कॉर्बेट टाइगर रिजर्व रविवार से पर्यटकों के खुल गया है। ऐसे में शनिवार को सिर्फ चार लोगों ने ही ऑनलाइन बुकिंग कराई। ये बुकिंग्स भी बिजरानी रेंज की हैं। अन्य किसी भी जोन में बुकिंग नहीं हुई है। बिजरानी में सुबह-शाम 30-30, पाखरो में सुबह-शाम 10-10, ढेला में 15-15, झिरना में 30-30 पर्यटकों की ऑनलाइन बुकिंग होती थी। यानी सुबह-शाम 85-85 (कुल 170) बुकिंग होती थीं  लेकिन शनिवार को चार लोगों ने ही ऑनलाइन बुकिंग कराई है।  बुकिंग कराने वाले चारों पर्यटक नैनीताल जिले के ही बताए जा रहे हैं। चारों ने सिर्फ बिजरानी जोन की बुकिंग कराई है, जिनमें एक पर्यटक ने सुबह और तीन पर्यटकों ने शाम की बुकिंग कराई है। वहीं अन्य तीनों झिरना, ढेला और पाखरो में किसी पर्यटक की बुकिंग नहीं हुई है।   कोरोना काल में ठप पड़ा पर्यटन उद्योग पार्क वार्डन आरके तिवारी ने बताया कि उम्मीद है कि आने वाले समय में बुकिंग बढ़ेगी। रविवार को कोरोना संक्रमण को लेकर मिली गाइडलाइन के अनुरूप ही पर्यटकों को जंगल सफारी के लिए भेजा जाएगा। जून में कॉर्बेट में पर्यटकों को बुकिंग नहीं मिल पाती थी। इसकी वजह से पर्यटक रामनगर वन प्रभाग के सीतावनी जोन में जंगल सफारी करते थे। कोरोना काल के चलते पर्यटन उद्योग पूरी तरह से ठप पड़ गया है।

© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: