बृहस्पतिवार, 29 अक्टूबर 2020 | 07:37 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील,सैनिक के नाम जलाएं एक दीया          विजयदशमी के पावन पर्व पर बद्री-केदार,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि का ऐलान          स्वास्थ्य मंत्रालय की देश वासियों से अपील,त्योहारों के मौसम में कोरोना को लेकर बरतें सावधानी          दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा,3737 करोड़ रुपये के बोनस का भुगतान तुरंत           भारत दौरे से पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री का बड़ा बयान लद्दाख में चीन भारत पर डाल रहा है सैन्‍य दबाव          उत्तराखंड में चिन्हित रेलवे क्रॉसिंगों पर 50 प्रतिशत धनराशि केन्द्रीय सड़क अवस्थापना निधि से की जाएगी          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | सीएम रावत का बड़ा एलान जिनके घर टूटे हैं उन्हें मिलेगी लागत से ज्यादा राहत...

सीएम रावत का बड़ा एलान जिनके घर टूटे हैं उन्हें मिलेगी लागत से ज्यादा राहत...


उत्तराखंड में आपदाएं आती ही रही है। जिसकी वजह से काफी नुकसान भी होता है। इस नुकसान से लोगों को उभारने के लिए उत्तराखंड के मुक्यमंत्री त्रिवेंदर सिंह रावत ने बड़ा बयान दिया है। दो दिवसीय दौरे पर पिथौरागढ़ पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि आपदा प्रभावितों के विस्थापन और पुनर्वास के लिए सरकार प्रयासरत है। प्रभावितों को मकान की लागत से अधिक धन दिया जाएगा। विस्थापन के लिए भूमि चयन की प्रक्रिया चल रही है। सरकार प्रभावितों के हितों के प्रति गंभीर है। शुक्रवार को तहसील बंगापानी के आपदा प्रभावितों की सुध लेने बरम पहुंचे मुख्यमंत्री श्री रावत ने राहत केंद्र में रह रहे आपदा प्रभावितों की समस्याएं सुनते हुए उन्हें शीघ्र पुनर्वास और विस्थापन का भरोसा दिलाया।

 

उन्होंने सर्वप्रथम आपदा प्रभावितों से आपदा के तत्काल बाद नहीं आ पाने के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा कि मौसम के चलते उनका कार्यक्रम निरस्त करना पड़ा था। उन्होंने तत्काल प्रभारी मंत्री को भेजा था। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आई आपदा काफी दुखदाई थी। इस मौके पर उन्होंने आपदा में हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि दी ।

इस दौरान उन्होंने सभी आपदा ग्रस्त पीड़ितों को बहुत जल्द राहत देने की भई बात कही। पशुपालन , बकरीपालन सहित आजीविका के अन्य साधन भी उस स्थल पर मुहैया कराएं जाएं। प्रभावितों ने कहा कि उनका विस्थापन ऐसे स्थल पर हो जहां चरागाह भी हो।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: