बुधवार, 20 नवंबर 2019 | 11:50 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
स्वर कोकिला लता मंगेशकर की हालत नाजुक, देश भर दुआओं का दौर जारी           महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश, मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी          अयोध्या में ही मस्जिद निर्माण के लिए दी जाएगी जमीन          सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन पर रामलला का हक माना          कोर्ट ने कहा कि पुरातत्व विभाग की खोज को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता          कोर्ट ने कहा,विवादित जमीन के नीचे एक ढांचा था और यह इस्लामिक ढांचा नहीं था          कोर्ट के फैसले में ASI का हवाला देते हुए कहा गया कि बाबरी मस्जिद का निर्माण किसी खाली जगह पर नहीं किया गया था          अयोध्या पर आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला, बनेगा राम मंदिर, मस्जिद के लिए अलग जगह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं के सबंध में ली बैठक

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं के सबंध में ली बैठक


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज मुख्यमंत्री आवास में श्री केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं के सबंध में बैठक ली। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि केदारनाथ में श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालु केदारनाथ व बद्रीनाथ के साथ-साथ पंच बद्री व पंच केदार के दर्शन भी कर सकें, इसके लिए पर्यटन विभाग की वेबसाईट व अन्य माध्यमों से इन प्रमुख धार्मिक स्थलों का भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाना जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ में अवस्थापना विकास संबधी जो कार्य होने हैं, जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग से बातचीत कर उसका डिजाइन बनाया जाए। श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत हर सम्भव मदद दी जायेगी। उन्होंने कहा कि अवस्थापना विकास से संबधित जो कार्य होने हैं, उसका डिटेल प्रस्ताव बनाये जाए। अवस्थापना विकास कार्यों में बिड़ला ग्रुप से सहयोग लिया जा सकता है।  

बैठक में शामिल हुए बद्री-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष श्री मोहन प्रसाद थपलियाल ने कहा कि श्री केदारनाथ में यात्रा के सफल संचालन व यात्रियों की सुविधाओं के दृष्टिगत अवस्थापना विकास जरूरी है। 2013 की आपदा में मन्दिर समिति की पूजा एवं मन्दिर व्यवस्था संबंधी आधारभूत संरचनाएं नष्ट हो गई थी। बद्री-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष ने कहा कि श्री केदारनाथ में मन्दिर के समीप भोग मण्डी, मठ भण्डार, तोषाखाना, रावल निवास, पुजारी निवास व कार्यालय व कार्मिकों के लिए आवास बनने हैं। श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु एक रैन बसेरे का निर्माण किया जाना है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, सचिव वित्त अमित नेगी, बद्री-केदार मंदिर समिति के सीईओ बी.डी. सिंह, आदित्य बिड़ला ग्रुप के सीनियर मैनेजर अरूण सिंह आदि उपस्थित थे।  



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: