बुधवार, 16 जून 2021 | 07:45 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
श्री बदरीनाथ धाम के क्षेत्रपाल श्री घंटाकर्ण महाराज जी के सीमांत ग्राम माणा स्थित मंदिर के कपाट खुले          मुख्यमंत्री तीरथ रावत ने दिल्ली में कई केंद्रीय मंत्रियों से की भेंट          सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने सैन्यधाम के निर्माण में मदद तथा छावनी क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न विषयों को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से की भेंट          दिल्ली-रामनगर कार्बेट इको ट्रेन को मिली सैद्धान्तिक मंजूरी          मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल से की भेंट          राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कुमाऊँ मंडल में कोरोना नियंत्रण से सम्बन्धित स्थिति की की समीक्षा          राम जन्मभूमि खरीद में नहीं हुआ कोई घोटाला          न्यूजीलैंड का मैच विराट के लिए बनेगा सबसे बड़ी चुनौती          मसूरी टनल के कार्य का अक्टूबर में उद्घाटन करेंगे केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी          पौड़ी के रांसी स्टेडियम में बनेगा हाई एल्टीट्यूड ट्रेनिंग सेंटर          उत्तराखण्ड में क्राफ्ट टूरिज्म विलेज स्थापित कर इसे होम स्टे से जोङने पर दे जोर- स्मृति जुबिन ईरानी          चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्‍तरकाशी के लोगों के खुली चारधाम यात्रा         
होम | साहित्य | सीएम रावत ने किया डांडी कांठी क्लब की स्मारिका ‘दृढ़ संकल्प’ का विमोचन

सीएम रावत ने किया डांडी कांठी क्लब की स्मारिका ‘दृढ़ संकल्प’ का विमोचन


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में डांडी कांठी क्लब की स्मारिका ‘दृढ़ संकल्प’ का विमोचन किया। उन्होंने कहा कि स्मारिका में उत्तराखण्ड की संस्कृति और उत्तराखण्ड आंदोलन की गाथा एवं राज्य के ऐतिहासिक, धार्मिक एवं पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया है। स्मारिका में कोविड संक्रमण के बचाव से संबंधित विभिन्न जानकारियों का भी समावेश किया गया है। उन्होंने उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक विरासत, धरोहरों एवं परम्पराओं के बारे में जानकारी प्रदान करने के प्रयसों की सराहना की।
 डांडी कांठी क्लब के अध्यक्ष श्री विजय भूषण उनियाल ने कहा कि डांडी कांठी क्लब का उद्देश्य ही सामाजिक सरोकारों को बढ़ावा देना रहा है। इसके साथ ही पर्वतीय क्षेत्रों से दूर रह रहे प्रवासियों को अपनी समृद्ध लोक संस्कृति से परिचित कराना भी उनका उद्देश्य रहा है। उन्होंने कहा कि अपनी संस्कृति एवं सांस्कृतिक विरासत को विश्व पटल पर रखने का भी हमारा प्रयास है। इसी के दृष्टिगत क्लब की स्मारिका दृढ़ संकल्प का प्रकाशन किया गया है।

इस अवसर पर डांडी कांठी क्लब के महासचिव कृष्णानन्द भट्ट, लोक गायक गीता राम कन्सवाल, राजनीश सेमवाल, नीरज उनियाल विजेन्द्र सजवाण आदि उपस्थित थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: