मंगलवार, 14 जुलाई 2020 | 02:08 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | धर्म-अध्यात्म | परमार्थ निकेतन पहुंचे सीएम रावत, कहा गंगा के तटों और ऋषिकेश की स्वच्छता हम सभी के हाथों में है

परमार्थ निकेतन पहुंचे सीएम रावत, कहा गंगा के तटों और ऋषिकेश की स्वच्छता हम सभी के हाथों में है


ऋषिकेश मेयर श्रीमती अनिता ममगाई जी का एक वर्ष का कार्यकाल सफलतापूर्वक सम्पन्न होने के अवसर पर ऋषिकेश में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी, श्री मनोहर कान्त ध्यानी,महामण्डलेश्वर ईश्वरदास जी महाराज, राज्यमंत्री एवं मेयर श्रीमती अनिता ममगाई, जीएमव्हीएन के उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंघल, और अन्य विशिष्ट अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित कर किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने ऋषिकेश शहर के विकास के लिये अनेक घोषणायें की। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जी ने कहा कि हम सभी का सहयोग रहा तो ऋषिकेश स्वच्छ और सुन्दर हो जायेगा। यहां पर देश विदेश से सतत पर्यटकों का आना-जाना लगा रहता है। गंगा के तटों और ऋषिकेश की स्वच्छता हम सभी के हाथों में है। हमें अपने शहरों को स्वच्छ रखने के लिये यह संकल्प करना होगा कि हम प्लास्टिक और गंदगी सड़कों पर नहीं डालेंगे। माननीय मुख्यमंत्री जी ने 10 लाख रूपयें भरत मन्दिर पब्लिक स्कूल के बच्चों के फर्नीचर के लिये भेंट किया। पीडब्ल्यूडी के भवन का नवीनीकरण, खंडगाव और कृष्णनगर को नगर निगम में शामिल करना, ऋषिकेश में पार्किग की व्यवस्था पर भी चर्चा की। इस प्रकार मुख्यमंत्री जी ने ऋषिकेश के विकास पर अपना भावी नीति पर भी चर्चा की घोषणायें की।

इस अवसर पर स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने ’’नगर निगम, ऋषिकेश के निर्वाचित बोर्ड ने सफलतापूर्वक अपना एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण किया है इस हेतु व्यक्तिगत रूप से मेयर श्रीमती अनिता ममगाई जी और निर्वाचित बोर्ड को बधाईयाँ दी। उनसे चर्चा में स्वामी जी ने कहा कि आपके नेतृत्व में ऋषिकेश शहर में समसरता, स्वच्छता, शान्ति और हरियाली संवर्द्धन का कार्य कुशलतापूर्वक सम्पन्न हो तद्हेतु मेरी शुभ कामनायें हैं। उत्तराखण्ड राज्य माँ गंगा का उद्गम स्थल है और विश्व स्तर पर ख्यातिप्राप्त है तथा ऋषिकेश को तो प्राचीन काल से ही योग और ध्यान की नगरी के रूप में गरिमा व महिमा प्राप्त है। यहां पर विश्व के अनेक देशों से अध्यात्म, संस्कृति, संस्कार, तीर्थ सेवन के लिये पर्यटक आते है। उत्तराखण्ड के पर्यटन को वैश्विक पहचान दिलाने में ऋषिकेश की अहम भूमिका है। आप सभी का कुशल अनुभव और नेतृत्व इस शहर को इसी तरह मिलता रहे। ऋषिकेश शहर आप सभी की कार्य कुशलता एवं समर्पण से सर्वोत्तम शहर बनेगा, यहाँ का पर्यावरण, जल- जंगल- जमीन, प्राचीन संस्कृति को सहेजने तथा गंगा की पवित्रता को बनायें रखने हेतु हम सभी मिलकर कार्य करेंगे।’’

स्वामी जी ने कहा कि अब हम सभी को स्वच्छ ऋषिकेश, कचरा मुक्त ऋषिकेश पर फोकस करना है। “हमारा कचरा हमारी जिम्मेदारी“ इस भाव के साथ आगे बढ़ना होगा। जब हम ’’हमरा शहर हमारी शान’’ इस भाव को समझेगे तभी हमारा शहर प्रगति करेगा। स्वामी जी ने माननीय मुख्यमंत्री जी से कहा कि योग नगरी ऋषिकेश में एक योग विश्वविद्यालय होना चाहिये जिसके अन्तर्गत योग आयुर्वेद और योग का प्रशिक्षण विश्व से आने वाले विद्यार्थियों को दिया जा सके। स्वामी जी ने कहा कि अब शहर में जहां पर भी गार्बेज है वहां पर गार्डेन बनें, गार्बेज टू गार्डेन ताकि लोगों को खाली स्थानों पर कचरा डालने का मौका न मिले।

स्वामी जी ने माननीय मुख्यमंत्री से कहा कि विगत दिनों अहमदाबाद, गुजरात से 150 रैग पिकर्स बहने आयी थी महामहिम राज्यपाल के कर कमलों से उन्हे एक जैसी साड़िया भेंट की गयी ताकि एक जैसा कार्य और एक जैसा पोशाक। उन्होने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में रैग पिकर्स बहन-भाईयों की महत्वपूर्ण भूमिका है। मेयर ऋषिकेेश और परमार्थ निकेतन ने अहमदाबाद से आयी रैग पिकर्स बहनों के लिये टाउन हाल में सम्मान समारोह का आयोजन किया था और उन्हें साड़ियां भेंट की तथा इसी प्रेरणा से आज भी पुनः परमार्थ निकेतन की ओर से सभी स्वच्छता शक्ति बहनों को साड़ी वितरण का कार्य आपके हाथों से हो रहा है यह अतीव प्रसन्नता की बात है।

श्रीमती अनिता ममगाई ने कहा कि हमारे नगर निगम बोर्ड के अधिकारियों और कर्मचारियों ने ऋषिकेश नगर निगम को विकास के पथ पर आगे बढ़ाया है। उन्होने यहां कि जनता का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि हमने एक वर्ष में विकास का रोड मेप तैयार करते हुए जनता और सरकार के सहयोग से रोड़ लाइट, सड़क की स्वच्छता और हरियाली के क्षेत्र में अद्भुत कार्य किया है। हमारी नगरपालिका, माननीय मुख्यमंत्री जी के सहयोग और मार्गदर्शन में सतत विकास कर रही।

मुख्यमंत्री श्री रावत एंव स्वामी जी महाराज ने पर्यावरण का प्रतीक रूद्राक्ष का पौधा ऋषिकेश की मेयर को देते हुये गार्बेज फ्री शहर बनाने का संकल्प कराया।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: