मंगलवार, 28 जनवरी 2020 | 06:31 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
उत्तराखंड की बहादुर बेटी राखी सहित 22 बच्चे राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित          जगत प्रकाश नड्डा निर्विरोध चुने गए बीजेपी के अध्यक्ष          एजीआरः टेलीकॉम कंपनियों को एक हफ्ते में चुकाना होगा 1.04 लाख करोड़ रुपये, पुनर्विचार याचिका खारिज          हिमाचल सरकार ने खोला नौकरियों का पिटारा, भरे जाएंगे 2500 पद, पढ़ें कैबिनेट के बड़े फैसले          महेंद्र सिंह धोनी BCCI के सालाना अनुबंध से भी बाहर, इन खिलाड़ियों को किया गया शामिल          जम्मू-कश्मीरः आफत बनकर आया हिमस्खलन, बर्फीले तूफान की चपेट में आने से तीन जवान शहीद, दो लापता          दिल्ली विधानसभा चुनाव की घोषणा 70 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी को होंगे चुनाव 11 फरवरी आएंगे नतीजे           सीबीएसई के निर्देश, अब 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले छात्र नहीं दे पाएंगे परीक्षा          मनोज मुकुंद नरवाणे बने देश के 28वें सेनाध्यक्ष          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | उत्तराखंड में पहली बार अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बर्खास्त

उत्तराखंड में पहली बार अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बर्खास्त


हाई कोर्ट की संस्तुति एवं राज्यपाल की मंजूरी के बाद कार्मिक विभाग ने ऊधमसिंह नगर जिले की काशीपुर की अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अनुराधा गर्ग को बर्खास्त कर दिया है। 2008 की न्यायिक सेवा की अफसर अनुराधा को 2015 में हाई कोर्ट ने निलंबित कर दिया था। राज्य बनने के 19 साल के भीतर किसी न्यायिक अफसर को बर्खास्त किया गया है। इस कार्रवाई से राज्य की न्यायिक बिरादरी में खलबली मची गई है। भ्रष्टाचार की शिकायत पर 2015 में हाई कोर्ट के तत्कालीन रजिस्ट्रार विजिलेंस नरेंद्र दत्त द्वारा प्रारंभिक जांच की गई थी, जांच में प्रथम दृष्टïया आरोप सही पाए जाने पर अनुराधा को निलंबित किया गया था। हाई कोर्ट ने आरोपों की जांच वर्तमान में हरिद्वार के जिला एवं सत्र न्यायाधीश विवेक भारती को सौंपी थी। जांच में आरोपों की पुष्टि के बाद हाई कोर्ट की ओर से राज्यपाल को एसीजेएम की बर्खास्तगी की संस्तुति भेजी गई थी। राज्यपाल की मंजूरी के बाद दो दिन पहले मंगलवार को कार्मिक विभाग की प्रमुख सचिव व अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी की ओर से निलंबित एसीजेएम को बर्खास्त करने का आदेश जारी कर दिया। हाई कोर्ट के उच्चपदस्थ सूत्रों ने बर्खास्तगी आदेश पहुंचने की पुष्टि की है।

राज्य बनने के बाद प्रदेश में पहली बार किसी जज को बर्खास्त किया गया है। अनुराधा पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप थे। 2005 बैच की न्यायिक अधिकारी हैं अनुराधा गर्ग। अनुराधा गर्ग  2015 से निलंबित चल रही थीं। निलंबन के 4 साल बाद उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। उनके खिलाफ की गई गोपनीय जांच में उनके ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोप सच पाए गए हैं।
नैनीताल हाई कोर्ट की फुल बेंच ने उनकी बर्खास्तगी की अनुशंसा उत्तराखंड शासन को भेजी थी जिसके आधार पर कार्मिक विभाग ने उनकी बर्खास्तगी का आदेश जारी कर दिया है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: