सोमवार, 27 सितंबर 2021 | 03:42 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
प्रदेश में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना का शुभारम्भ किया जाय          विश्व पर्यटन दिवस पर सीएम पुष्कर धामी ने प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं          भाजपा की महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वानाती श्रीनिवासन ने कहा,पीएम मोदी के कार्यकाल में मातृशक्ति सबसे ज्यादा मजबूत हुई है          सीएम पुष्कर धामी हरिद्वार में ब्रह्मलीन वीतराग सन्त शिरोमणि स्वामी वामदेव जी महाराज की प्रतिमा का किया अनावरण          उत्तराखण्ड में भी होगा वन्दे भारत ट्रेन का संचालन          उत्तराखंड कैबिनेट का बड़ा फैसला,राज्य कर्मियों का महंगाई भत्ता 11 फीसद बढ़ा          चार धाम यात्रा के लिए अब तक 42 हजार तीर्थ यात्रियों ने किया रजिस्ट्रेशन          रक्तदान के लिए हर व्यक्ति को आगे आने की जरूरतः त्रिवेंद्र रावत          उत्तराखंड की चार धाम यात्रा से हटी रोक         
होम | धर्म-अध्यात्म | एक जुलाई से सीमीत संख्या के साथ खुलेगी चारधाम यात्रा

एक जुलाई से सीमीत संख्या के साथ खुलेगी चारधाम यात्रा


शुक्रवार को सचिवालय में तीरथ सिंह रावत मंत्रिमंडल बैठक हुई। बैठक में सबसे पहले नेता प्रतिपक्ष एवं हल्द्वानी विधायक स्व.इंदिरा हृदयेश को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान दो मिनट का मौन रखा गया। बैठक में शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल, कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल,यशपाल आर्य मौजूद थे। इस दौरान कुछ मंत्री वर्चुवल माध्यम से कैबिनेट बैठक जुडे। कैबिनेट बैठक में लिए गए निर्णयों के बारे में शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने जनाकारी दी।

शुक्रवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में सबसे महत्वपूर्ण फैसला रहा चार यात्रा को दुरस्त करने को लेकर,चार धाम यात्रा को तीन जिलों के लोगों के लिए एक जुलाई से शुरू करने पर मुहर लगा दी गई है। इसी के साथ व्यवस्थाएं दुरस्त करने के निर्देश दिए गए। इसके लिए वरिष्ठ अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए गए। चार धाम यात्रा में  सीमित संख्या में दर्शन के लिए श्रद्धालु जाएंगे। तीर्थ पुरोहितों को टिका लगाया जाएगा। चारों धामो में अलग-अलग अधिकारी नियुक्त होंगे। इसके लिए अलग से एसओपी जारी की जाएगी।

उत्तरकाशी हरिद्वार के बाद टिहरी,देवप्रयाग,श्रीनगर,ऋषिकेश,गंगोत्री और चमोली को में बाढ़ मैदान परिक्षेत्र घोषित किया गया है।

औधोगिक क्षेत्र में कार्य करने वाले व्यक्तियों का वेतन निर्धारित होगा। ओवर टाइम का वेतन भी  निर्धारित किया जाएगा।  दोनों पालियों के बीच में कार्य करने का विराम का समय होगा निर्धारित।

सेलाकुई स्थित लैंडा कम्पनी को जाने वाली विद्युत आपूर्ति लाईंन को किया जायेग अंडरग्राउंड।

मार्जन मनी को 10 प्रतिशत से घटाकर 3 प्रतिशत किया गया है।

वैट से सम्बंधित केस के निस्तारण की समय सीमा 30 अप्रैल की जगह 30 सितंबर तक बढ़ाई गई है। (2017-18 के मामले)

टाटा मोटर्स पंत नगर को ऐम्बुलेंस तैयार करने की दी मंजूरी, टाटा मैजिक वाहन में तैयार किये जायेंगे एम्बुलेंस,कोविड काल के 9 माह के लिए मिली मंजूरी। सविंदा कर्मचारियो के जरिये भी टाटा मोटर्स करा सकता है काम, लेकिन सुरक्षा और मानदेय स्थायी और अनुभवी कर्मचारियों की भांति होगा।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: