बुधवार, 23 जून 2021 | 10:41 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम रावत ने रेल विकास निगम के अधिकारियों से ली ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन की जानकारी          हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए वेंटिलेटर,ऑक्सीमीटर एवं सैनिटाइजर सहित अन्य सामान          सीएम ने दिखाई पांच वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई          पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी         
होम | धर्म-अध्यात्म | श्री केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली ऊखीमठ से केदारनाथ जी के लिए रवाना,17 मई को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट

श्री केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली ऊखीमठ से केदारनाथ जी के लिए रवाना,17 मई को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट


उत्तराखंड में आज यानि अक्षय तृतीया से चार धाम यात्रा की शुरूआत हो गई है। इसी क्रम में बाबा केदारनाथ की डोली ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से केदारनाथ धाम के लिए रवाना हो गई है। इसी के साथ बाबा केदार के कपाट खोलने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। इस अवसर पर रावल भीमाशंकर लिंग, पुजारी बागेश लिंग, देवस्थानम बोर्ड के अपरमुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी. सिंह, कार्याधिकारी एनपी जमलोकी, डोली प्रभारी यदुवीर पुष्पवान सहित प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे।

देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि 17 मई को प्रात:पांच बजे श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। चारधाम यात्रा स्थगित है अत: कोरोना महामारी को देखते हुए केवल मंदिरों के कपाट खुल रहे है। पूजापाठ से जुड़े कुछ ही लोगों को धामों में जाने की अनुमति दी गयी है। आज दिन में 12.15 बजे श्री यमुनोत्री धाम के कपाट खुलेंगे। जबकि कल 15 मई गंगोत्री धाम एवं 18 मई  प्रात: को श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुल रहे है।

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते इस बार चार धाम यात्रा को फिलहाल स्थगित किया गया है। इस लिए चार धाम यात्रा पर आम श्रद्धालु नहीं जा पाएंगे। आम श्रद्धालुओं के लिए सरकार ने श्रद्धालुओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए भक्तों के लिए चारधाम के वर्चुअल दर्शन कराने की तैयारी कर रही है। जिससे घर बैठे लोग चारधाम के दर्शन कर सकेंगे। चार धाम यात्रा के लिए पहले ही एसओपी जारी कर दी गई थी। जिसके अनुसार बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री एवं यमुनोत्री में केवल रावल, पुजारीगण और मंदिरों से जुड़े स्थानीय हक हकूक धारी, पंडा पुरोहित, कर्मचारी व अधिकारी ही जा पाएंगे,इन सभी की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट भी जरूरी होगी।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: