शनिवार, 24 अगस्त 2019 | 04:08 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
चिदंबरम को 26 अगस्त तक CBI रिमांड में भेजा, वकील और परिजन हर दिन 30 मिनट मिल सकेंगे          उत्तरकाशी हेलीकॉप्टर क्रैश,देहरादून लाए गए दोनों पायलटों के शव, दी गई श्रद्धांजलि          उत्तरकाशी में राहत सामग्री ले जा रहा हेलिकॉप्टर क्रैश, सभी तीन लोगों की मौत          डोनाल्ड ट्रंप से बोले पीएम मोदी- भारत विरोधी बयान शांति के लिए ठीक नहीं, फोन पर हुई दोनों की आधे घंटे बातचीत          जाकिर नाईक की बोलती बंद, मलेशिया सरकार ने भाषण देने पर लगाया प्रतिबंध          अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत की बड़ी कामयाबी, चंद्रयान-2 ने चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश किया ​          भारतीय वायुसेना दुनिया की पेशेवर सेनाओं में से एक, बालाकोट स्ट्राइक के बाद दुनिया ने माना लोहा- राजनाथ सिंह​          विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाले पाकिस्तानी कमांडो को भारतीय सेना ने मार गिराया          टीम इंडिया के दोबारा हेड कोच बने रवि शास्‍त्री          अरुण जेटली की हालत नाजुक, अमित शाह और योगी ने एम्स पहुंचकर ली स्वास्थ्य की जानकारी          भाजपा में शामिल हुए AAP के बागी विधायक कपिल मिश्रा, मनोज तिवारी और विजय गोयल भी रहे मौजूद          घाटी में 70-80 के दशक जैसा माहौल चाहते हैं, सब ठीक रहा तो बिना बंदूक के मिलेंगे: आर्मी चीफ          कश्‍मीर पर मध्‍यस्‍थता का सवाल ही नहीं, डोनाल्‍ड ट्रंप          जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के भारत सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान तिलमिला,सीमा पर तनाव बढ़ाने के लिए सैन्य गतिविधियां बढ़ाई,स्कार्दू में फाइटर प्लेन तैनात किए           पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | साहित्य | रामेश्वरी नादान एवं सुनील सिंघवाल की पुस्तकों का विमोचन

रामेश्वरी नादान एवं सुनील सिंघवाल की पुस्तकों का विमोचन


दिल्ली के न्यू अशोक नगर में दिल्ली पैरामेडिकल & मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट दिल्ली के सभागार में रविवार को उत्तराखंड की साहित्य जगत की हस्तियों की उपस्थिति में युवा कवयित्री व लेखिका रामेश्वरी नादान की बाल कहानी संग्रह बचपन एक उड़ानएवं साहित्यकार सुनील सिंघवाल ‘रोशन’ की पुस्तक राष्ट्रचेतना और रोशन का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर साहित्य एवं पत्रकारिता से जुड़ी हस्तियों के लिए सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत श्रीमती बबली मंमगाई की मधुर आवाज में सरस्वती वंदना के साथ की गई। इसके साथ ही मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार विनय सक्सेना, विशिष्ठ अतिथि डॉ. पृथ्वी सिंह केदारखंडी के अलावा हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता व प्रसिद्ध समाजसेवी संजय शर्मा दरमोड़ा, दिल्ली पैरामेडिकल & मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट दिल्ली के अध्यक्ष एवं समाज सेवी विनोद बछेती, देहरादून से आये युवा समाजसेवी अशोक जोशी, वरिष्ठ साहित्यकार पूरन चंद कांडपाल, वरिष्ठ साहित्यकार एवं कवि मदन डुकलान, गढ़वाल हितैषणी सभा के महासचिव पवन मैठाणी, वरिष्ठ पत्रकार हरीश लखेड़ा द्वारा द्वीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसके बाद पुस्तकों का विमोचन किया।

कार्यक्रम का संचालन उत्तराखंड के वरिष्ठ साहित्यकार एवं उत्तराखण्ड लोकभाषा साहित्य मंच के संयोजक दिनेश ध्यानी द्वारा किया गया। उनके सफल मंच संचालन से सभागार में उपस्थित साहित्यकार, कवि, पत्रकार, रंगकर्मी व समाजसेवी एकाग्र होकर न केवल वक्ताओं को सुन रहे थे बल्कि उनकी बातों पर मनन भी कर रहे थे।

इस मौके पर दिल्ली पैरामेडिकल & मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट दिल्ली के अध्यक्ष एवं समाज सेवी विनोद बछेती ने रामेश्वरी नादान एवं सुनील सिंघवाल को बधाई देते हुए कहा कि आज के समय में जब हम तेजी के साथ नयी तकनीकि की ओर बढ़ रहे है। ऐसे समय में लेखन-पढ़ना वह भी पुस्तक के रूप बहुत ही सराहनीय कार्य है। श्री बछेती ने कहा में इन दोनों ही लेखकों को बधाई देता हूं। जो अपने रचनाओं के माध्यम से बच्चों और समाज के लिए नयी ऊर्जा का उत्सर्जन कर रहे है।

पुस्तक लोकार्पण के बाद इस कार्यक्रम में समाज से जुड़ी विभिन्न हस्तियों को सम्मानित किया गया। जिनमे वरिष्ठ पत्रकार हरीश लखेड़ा, उत्तराखंड आंदोलनकारी उमेश रावत, वरिष्ठ रंगकर्मी खुशाल बिष्ट, साहित्यकार कवि व रंगकर्मी दर्शन सिंह रावत, वरिष्ठ साहित्यकार जयपाल सिंह रावत, रमेश हितैषी, पत्रकार व वाइस ऑफ माउंटेन के जगमोहन जिज्ञासु, गायिका बबली ममगाईं, कवयित्री आभा, युवा कवयित्री ममता नौटियाल, पत्रकार सत्येन्द्र सिंह रावत आदि को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर नई सोच नई पहल की टीम के अलावा उत्तराखंड एकता मंच के अनिल पन्त, उदय ममगाईं राठी, राजपाल पंवार, विनोद रतूड़ी, उमेश रावत, द्वारिका चमोली, सुरेन्द्र हलसी, गोपाल नेगी, सत्येन्द्र सिंह नेगी, अनूप रावत सहित उत्तराखंड समाज के सैकड़ों लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम में रावत डिजिटल एवं वॉइस ऑफ़ माउंटेन का विशेष सहयोग रहा।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: