शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023 | 04:47 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | पर्यटन | बेदनी बुग्याल- मखमली घास पर फैला मदहोश कर देने वाला पहाड़ी मैदान

बेदनी बुग्याल- मखमली घास पर फैला मदहोश कर देने वाला पहाड़ी मैदान


चारों तरफ पहाड़ और हजारों फीट की ऊँचाई पर दूर-दूर तक फैला हरी घास का मखमली मैदान। ऐसा नजारा पहाड़ों में किसी को भी मदहोश कर सकता है। इस नजारे के लिए आप यहाँ बार-बार आना चाहेंगे। ये नज़ारा है बेदनी बुग्याल का।

उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध बुग्यालो में से एक बुग्याल है अली बेदनी बुग्याल भी हैं| ये बुग्याल उत्तराखंड के चमोली जिले के दीदीना गांव के पास है। भारत में सबसे बड़ा घास का मैदान होने के कारण जाना जाता है, जो की समुद्र सतह से लगभग 13,000 फीट की उचाई स्थित हैं |

 

बुग्याल का अर्थ है, पहाड़ों की ऊँचाई पर हरे-भरे घास के मैदान। उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित बेदनी बुग्याल समुद्र तल से 3,354 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। रूपकुंड जाने के रास्ते में ही आपको बेदनी बुग्याल मिलेगा। बेदनी बुग्याल उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत बुग्यालों में से एक है। हालांकि यहाँ तक पहुँचना आसान नहीं है। बेदनी बुग्याल तक पहुँचने के लिए आपको एक लंबा ट्रेक करना पड़ेगा। इसके बाद आपको इस जहाँ के सबसे सुंदर नजारे देखने को मिलेंगे।

बुग्याल  निचले हिमालयी क्षेत्र में घास के मैदान हैं हरे-भरे, पहाड़ के शीर्ष पर या उसके किनारों पर कहीं, पाइन और देवदार के घने जंगल से घिरे हुए हैं। बुग्याल हिम रेखा और वृक्ष रेखा के बीच का क्षेत्र होता हैं यह स्थानीय लोगो को चराहगाह का काम देता हैं |ट्रेकिंग के लिए यह जगह बेहद खुबसूरत हैं |इन बुग्यालों में गर्मियों की मखमली घास पर, सर्दियों में बर्फ की सफ़ेद चादर बिछ जाती हैं |  उत्तराखंड में छोटे बड़े कई ऐसे बुग्याल हैं जो अपने आप में प्रसिद्ध  हैं, जैसे अली बुग्याल , बेदनी बुग्याल, चौपता, बन्शीनारायण,आदि .



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: