शनिवार, 24 अगस्त 2019 | 04:35 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
चिदंबरम को 26 अगस्त तक CBI रिमांड में भेजा, वकील और परिजन हर दिन 30 मिनट मिल सकेंगे          उत्तरकाशी हेलीकॉप्टर क्रैश,देहरादून लाए गए दोनों पायलटों के शव, दी गई श्रद्धांजलि          उत्तरकाशी में राहत सामग्री ले जा रहा हेलिकॉप्टर क्रैश, सभी तीन लोगों की मौत          डोनाल्ड ट्रंप से बोले पीएम मोदी- भारत विरोधी बयान शांति के लिए ठीक नहीं, फोन पर हुई दोनों की आधे घंटे बातचीत          जाकिर नाईक की बोलती बंद, मलेशिया सरकार ने भाषण देने पर लगाया प्रतिबंध          अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत की बड़ी कामयाबी, चंद्रयान-2 ने चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश किया ​          भारतीय वायुसेना दुनिया की पेशेवर सेनाओं में से एक, बालाकोट स्ट्राइक के बाद दुनिया ने माना लोहा- राजनाथ सिंह​          विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाले पाकिस्तानी कमांडो को भारतीय सेना ने मार गिराया          टीम इंडिया के दोबारा हेड कोच बने रवि शास्‍त्री          अरुण जेटली की हालत नाजुक, अमित शाह और योगी ने एम्स पहुंचकर ली स्वास्थ्य की जानकारी          भाजपा में शामिल हुए AAP के बागी विधायक कपिल मिश्रा, मनोज तिवारी और विजय गोयल भी रहे मौजूद          घाटी में 70-80 के दशक जैसा माहौल चाहते हैं, सब ठीक रहा तो बिना बंदूक के मिलेंगे: आर्मी चीफ          कश्‍मीर पर मध्‍यस्‍थता का सवाल ही नहीं, डोनाल्‍ड ट्रंप          जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के भारत सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान तिलमिला,सीमा पर तनाव बढ़ाने के लिए सैन्य गतिविधियां बढ़ाई,स्कार्दू में फाइटर प्लेन तैनात किए           पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | बद्रीनाथ लामबगड़ स्लाइड में खतरे को देखते हुए तीन सौ मीटर के डेंजर जॉन को यात्री पैदल रास्ते से करेंग

बद्रीनाथ लामबगड़ स्लाइड में खतरे को देखते हुए तीन सौ मीटर के डेंजर जॉन को यात्री पैदल रास्ते से करेंग


बद्रीनाथ यात्रा में तीन दशकों से सबसे बड़े खतरे की तरह खड़ा लामबगड़ स्लाइड हर वर्ष बद्रीनाथ यात्रियों को मानसून के समय परेशान करता है। इस बार भी हर मानसून की तरह लामबगड स्लाइड पर भूस्खलन हो रहा है जिसके कारण यहां यात्रियों को घंटों फसना पड़ रहा है सबसे बड़ी बात यह है की लामबगड़ स्लाइड खुला होने के बावजूद भी यहाँ लगातार बोल्डरों का गिरना जारी हैं जिसके कारण अब यात्रियों के लिए प्रसाशन द्वारा नयी गाइडलाइन शुरु की गयी है।

जिसके तहत स्लाइड जोन पर यात्री अपनी गाड़ियों से स्लाइड को पार नहीं करेंगे,बल्कि सिर्फ गाड़ी का ड्राइवर लामबगड़ स्लाइड को पार करेगा और यात्री पैदल ही अलकनंदा के किनारे- किनारे दूसरे पैदल मार्ग से लामबगड़ स्लाइड के दूसरी तरफ पहुंचेंगे, हालाँकि अलकनंदा के किनारे से पैदल यात्रियों को दूसरी तरफ भेजा जा रहा है। 

आपको बताते चले की प्रसाशन को क्यों नयी गाइड लाइन जारी करनी पड़ी आखिर क्यों यात्रियों की जान की हिफाजत के लिए नया नियम अनुसार लामबगड़ स्लाइड पर यात्रियों को गाडी या पैदल नहीं जाने दिया जा रहा है। इसके पीछे के कई कारण है,बीते 6 अगस्त को बद्रीनाथ मार्ग लामबगड़ स्लाइड में भूस्खलन के कारण बंद था जिसे सुबह 9 बजे करीब खोला गया और जब गाड़ियां इस स्लाइड को पार कर रही थी तब अचानक एक यात्री बस के ऊपर स्लाइड जोन में भारी बोल्डर आ गया था। जिसमे 6 लोगों की बस में दबे रहने से मौत और 8 लोग बुरी तरह जख्मी हो गए थे।

इस बारे में गोविंदघाट के थाना अध्यक्ष बृजमोहन सिंह राणा ने बताया कि लामबगड़ में पिछले कई दिनों से ऐसी घटनाएं हो रही थी। जिसके चलते प्रशासन को यह फैसला लेना पड़ा और अब यात्रियों को भी इस पर ध्ना देना होगा। ताकि की आए दिन होने वाली इस तरह की घटनों से बचा जा सके। इस क्षेत्र में लगाता बोल्डर गिरने का सिलसिला जारी है। बारिश हो या मौसम साफ़ कब कहाँ से बोल्डर गिर जाए कुछ पता नहीं जिस कारण अब बद्रीनाथ यात्रियों को स्लाइड जोन में गाड़ियों से उतारकर पैदल ही पार करना होगा।

आपको बता दें कि लामबगड़ में बदरीनाथ हाईवे रविवार को प्रात: नौ बजे वाहनों की आवाजाही के लिए सुचारु हो गया था। यातायात सुचारु होने पर लगभग 700 तीर्थयात्री बदरीनाथ धाम पहुंचे, जबकि बदरीनाथ धाम से 150 तीर्थयात्री गंतव्य के लिए रवाना हुए। शनिवार शाम पांच बजे भारी बारिश के दौरान बोल्डर आने से लामबगड़ में हाईवे बंद हो गया था और यात्री रोक दिए गए थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: