शनिवार, 25 सितंबर 2021 | 08:03 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | खेल | देश की बेटी अवनि लेखरा ने देश को पैरालंपिक में दिलाया पहला गोल्ड

देश की बेटी अवनि लेखरा ने देश को पैरालंपिक में दिलाया पहला गोल्ड


टोक्यो में चल रहे पैरालंपिक में देश को पहला गोल्ड देश की बेटी अवनि लेखरा ने दिला दिया है।
उन्होंने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 इवेंट में गोल्ड मेडल जीता। लेखारा ने फाइनल में 249.6 अंक हासिल किए। उन्होंने वर्ल्ड रेकॉर्ड की बराबरी की। वहीं डिस्कस थ्रो में भारत के योगेश कथूरिया ने डिस्कस थ्रो में सिल्वर मेडल हासिल किया। वहीं भारत के देवेंद्र झाझरिया ने सिल्वर मेडल और सुंदर सिंह गुर्जर ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। देवेंद्र हालांकि गोल्ड मेडल की तिकड़ी नहीं लगा पाए लेकिन चांदी जीतकर उन्होंने भारत की झोली में पदक डाला।
उन्होंने फाइनल में 7वें स्थान के साथ क्वॉलिफाइ किया था और कुल 621.7 अंक हासिल किए थे। अवनि ने फाइनल में अपने खेल में काफी सुधार किया। उन्होंने फाइनल में बेहतर प्रदर्शन किया।
टोक्यो पैरालंपिक में भी यह देश का पहला गोल्ड मेडल है। पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली वह तीसरी भारतीय महिला हैं।अवनि ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है।अवनि का सफर भी बेहद ही संघर्ष भरा रहा है।
जब अवनि केवल 11 साल की थी तभी एक कार दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी टूट गई। रीढ़ की हड्डी टूटने के कारण उन्हें हमेशा से व्हीलचेयर पर आना पड़ा।इसके बाद यहां से उनकी जिन्दगी का दूसरा कठिन सफर शुरू हुआ। व्हीलचेयर पर आने के बाद उनके पिता ने अवनि को हिम्म्त दिया और उन्हें पढ़ाई के साथ-साथ खेल पर भी ध्यान देने के लिए कहा।अवनि ने इसके बाद पढ़ाई पर पूरा ध्यान दिया और साथ ही खेल में भी अवसर तलाशने की कोशिश करने लगी। आज उन्होंने वो मुकाम हासिल कर लिया है जिसका उन्हें इंतजार था। देश की बेटी अवनि ने आज देश को गोल्ड जीता दिया है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: