बृहस्पतिवार, 29 फ़रवरी 2024 | 04:34 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | पर्यटन | औली में बर्फ न पड़ने से स्कीइंग को खतरा, नंदा देवी स्लोप में बर्फ न के बराबर

औली में बर्फ न पड़ने से स्कीइंग को खतरा, नंदा देवी स्लोप में बर्फ न के बराबर


गोपेश्वर। विश्व प्रसिद्ध हिमक्रीड़ा स्थल औली में बर्फ की कमी से राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतियोगिताओं के आयोजन को लेकर संशय बना हुआ है। स्थिति यह है कि औली में बर्फ के नाम पर कहीं कहीं पर खेलने के लिए भी बर्फ ढूंढनी पड़ रही है। ऐसे में पर्यटकों को बर्फ का दीदार करने के लिए औली से चार किमी दूर गौरसों की दौड़ लगानी पड़ रही है।

हालांकि यह ट्रेकिंग के साथ स्कीइंग का भी आनंद है। औली में अंतरराष्ट्रीय मानकों का नंदा देवी स्कीइंग स्लोप है। जिसमें स्कीइंग के सभी खेल आयोजित होते रहे हैं। इस स्कीइंग स्लोप को फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल स्कीइंग से मान्यता प्राप्त है।

नंदा देवी का यह दक्षिण मुखी स्लोप 1350 मीटर लंबा है। इस स्लोप में खिलाड़ियों को चढ़ने के लिए चियर लिफ्ट व स्की लिफ्ट लगी हुई है। इसके अलावा कृत्रिम बर्फ बनाकर छिड़कने के लिए भी मशीनें मौजूद हैं।

इस वर्ष 13 दिसंबर को जब औली व जोशीमठ तक भारी बर्फबारी हुई तो विंटर गेम्स एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने नेशनल के साथ इंटरनेशनल फिश रेस के आयोजन को लेकर सरकार को पत्र लिखा था। हालांकि इसकी तिथी घोषित नहीं की गई थीलेकिन अब जिस प्रकार जनवरी माह में अब तक औली में एक बार ही बर्फबारी हुई वह भी पिद्यल गई।

औली की स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए नंदा देवी स्लोप में बर्फ न के बराबर है। ऐसे में देश दुनिया के खिलाड़ियों को मौसम की इस बेरुखी से धक्का लगा है। हालांकि अभी फरवरी माह में बर्फबारी की संभावनाओं के चलते खेलों के आयोजन को लेकर उम्मीदें बनी हुई है। भारत में इंटरनेशनल स्कीइंग के कोच अजय भट्ट का कहना है कि औली में मौसम को लेकर अभी से कुछ कहना जल्दबाजी होगा।

अजय भट्ट ने कहा कि औली में खेल प्रतियोगिताएं फरवरी माह में ही अधिकतर आयोजित हुई है। कई बार तो नेशनल प्रतियोगिताएं मार्च माह में भी आयोजित हुई है। ऐसे में एसोसिएशन मौसम पर नजर लगाए हुए हैं। स्कीइंग स्लोप बर्फ से लबालब हो तो नेशनल व इंटरनेशनल आयोजनों की तिथि घोषित की जाएगी।

अजय भट्ट ने कहा कि इससे पहले खेलो इंडिया प्रतियोगिता का आयोजन जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में होना है। इसमें उत्तराखंड की टीम नेशनल व इंटरनेशनल के लिए प्रशिक्षित भी हो जाएगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: