सोमवार, 8 मार्च 2021 | 02:21 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | भारतयी सेना दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारतयी सेना दिवस क्यों मनाया जाता है?


आज देशभर में भारतीय सेना दिवस को मनाया जा रहा है। सेना देश की सीमाओं पर अपनी जान की बाजी लगातार देश की रक्षा करती है। मां से वापस आने का वादा करके वीर जवान भारत माता की सेवा में शहीद हो जाते हैं। आज का दिन ना केवल भारतीय सेना के लिए खासा अहम होता है बल्कि हिंदुस्तान के इतिहास में अहम दिन माना जाता है। ये वो दिन है जब पहली बार कोई भारतीय इंडियन आर्मी का कमांडर इन चीफ बना था। इससे पहले तक अंग्रेज ही इस पद पर रहते आए थे।15 जनवरी 1949 को इंडियन आर्मी के कमांडिंग चीफ जनरल सर फ्रांसिस बटचर की जगह फील्ड मार्शल कोडेंडरा एम करिअप्पा को भारतीय सेना कमांडर इन चीफ बनाया गया था। इसके बाद से हर साल इस दिन आर्मी डे के तौर पर मनाया जाता है। आपको बता दें,  15 अगस्त 1947 को देश के आजाद होने के बाद ब्रिटिश इंडियन आर्मी दो हिस्से में बंट गई थी। एक पाकिस्तान आर्मी बन गई. दूसरा हिस्सा इंडियन आर्मी बना।इंडियन आर्मी की जिम्मेदारी भारत की पहली जवाहर लाल नेहरू सरकार को मिली। 28 जनवरी 1899 को कर्नाटक के कुर्ग में जन्मे करिअप्पा फील्ड मार्शल के पद पर पहुंचने वाले इकलौते भारतीय हैं. फील्ड मार्शल सैम मानेकशा दूसरे ऐसे अधिकारी थे, जिन्हें फील्ड मार्शल का रैंक दिया गया था। इसीलिये हर साल 15 जनवरी को भारतीय सेना दिवस मनाया जाता है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: