बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 | 06:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          कांग्रेस पार्टी का बड़ा एलान, जम्मू-कश्मीर में नहीं लड़ेंगे BDS चुनाव          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           भारतीय सेना एलओसी पार करने से हिचकेगी नहीं,पाकिस्तान को आर्मी चीफ बिपिन रावत की चेतावनी          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | आर्मी चीफ बिपिन रावत पहुंचे अपने ननिहाल,ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत

आर्मी चीफ बिपिन रावत पहुंचे अपने ननिहाल,ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत


आर्मी चीफ बिपिन रावत आज उत्तरकाशी उत्तराखंड स्थित अपने ननिहाल कड़ी सुरक्षा के बीच पहुंचे। अपने गांव थाती पहुंचने पर जनरल रावत का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। थाती गांव पहुंचने पर ग्रामीणों व किशन सिंह के परिजनों ने जनरल रावत का भव्य स्वागत किया।  चार धाम यात्रा पर उत्तराखंड आए सेनाध्यक्ष बिपिन रावत अपने मामा के घर थाती धनारी पहुंचे हैं। आर्मी चीफ का ग्रामीणों ने फूल-मालाओं से स्वागत किया। ख़ास बात यह है कि सेनाध्यक्ष बिपिन रावत पहली बार पत्नी के साथ अपने ननिहाल थाती गांव आए। गांव में उनके ममेरे भाई नरेंद्र परमार रहते हैं। सेना और स्थानीय प्रशासन ने जनरल रावत के थाती गांव आने से पहली ही तैयारी पहले से ही शुरु कर दी थी। सेना से ही सेनाध्यक्ष के भाई नरेंद्र परमार को जानकारी मिली थी और फिर पुलिस और सैन्य अधिकारियों ने गांव में जाकर सुरक्षा इंतज़ाम किए थे। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत जब अपने ननिहाल पहुंचे तो उन्होंने अपने ममेरे भाई के परिवार को गले लगाकर सत्कार स्वीकार किया। इस मौके पर सेना प्रमुख बिपिन रावत के स्वागत में उनके ननिहाल में पारंपरिक पकवान स्वाले और दाल के पकोड़े समेत अन्य पहाड़ी व्यंजन बनाए गए थे। बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत ने गांव के छोटे-बड़े बच्चों और बुजुर्गो से मुलाकात कर रिटायरमेंट के बाद थाती गांव आने की बात कही,जनरल रावत ने कहा कि वो रिटायरमेंट के बाद अपने पैतृक गांव में ही रहेंगे।

जनरल बिपिन रावत इस मौके पर उत्तराखंड में पलायन की समस्या को गंभीर बताया और कहा कि वह समय-समय पर त्रिवेंद्र सरकार से इस मसले पर बात करते रहते है। पाकिस्तान पर उन्होंने कहा उन्हें मुह तोड़ जवाब दिया जा रहा है। वंही उन्होंने कहा कि आज भारत के अत्यधनिक हथियार मिशाले तोपे है। सीमा तक हमारे सड़के पहुँच चुकी है।

अपने ननिहाल पहुंच बिपिन रावत का जहां भारत माँ के नारों के साथ ग्रामीणों ने आर्मी चीफ का स्वागत किया तो वहीं विदा भी किया।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: