रविवार, 7 जून 2020 | 11:46 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | आर्मी चीफ बिपिन रावत पहुंचे अपने ननिहाल,ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत

आर्मी चीफ बिपिन रावत पहुंचे अपने ननिहाल,ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत


आर्मी चीफ बिपिन रावत आज उत्तरकाशी उत्तराखंड स्थित अपने ननिहाल कड़ी सुरक्षा के बीच पहुंचे। अपने गांव थाती पहुंचने पर जनरल रावत का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। थाती गांव पहुंचने पर ग्रामीणों व किशन सिंह के परिजनों ने जनरल रावत का भव्य स्वागत किया।  चार धाम यात्रा पर उत्तराखंड आए सेनाध्यक्ष बिपिन रावत अपने मामा के घर थाती धनारी पहुंचे हैं। आर्मी चीफ का ग्रामीणों ने फूल-मालाओं से स्वागत किया। ख़ास बात यह है कि सेनाध्यक्ष बिपिन रावत पहली बार पत्नी के साथ अपने ननिहाल थाती गांव आए। गांव में उनके ममेरे भाई नरेंद्र परमार रहते हैं। सेना और स्थानीय प्रशासन ने जनरल रावत के थाती गांव आने से पहली ही तैयारी पहले से ही शुरु कर दी थी। सेना से ही सेनाध्यक्ष के भाई नरेंद्र परमार को जानकारी मिली थी और फिर पुलिस और सैन्य अधिकारियों ने गांव में जाकर सुरक्षा इंतज़ाम किए थे। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत जब अपने ननिहाल पहुंचे तो उन्होंने अपने ममेरे भाई के परिवार को गले लगाकर सत्कार स्वीकार किया। इस मौके पर सेना प्रमुख बिपिन रावत के स्वागत में उनके ननिहाल में पारंपरिक पकवान स्वाले और दाल के पकोड़े समेत अन्य पहाड़ी व्यंजन बनाए गए थे। बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत ने गांव के छोटे-बड़े बच्चों और बुजुर्गो से मुलाकात कर रिटायरमेंट के बाद थाती गांव आने की बात कही,जनरल रावत ने कहा कि वो रिटायरमेंट के बाद अपने पैतृक गांव में ही रहेंगे।

जनरल बिपिन रावत इस मौके पर उत्तराखंड में पलायन की समस्या को गंभीर बताया और कहा कि वह समय-समय पर त्रिवेंद्र सरकार से इस मसले पर बात करते रहते है। पाकिस्तान पर उन्होंने कहा उन्हें मुह तोड़ जवाब दिया जा रहा है। वंही उन्होंने कहा कि आज भारत के अत्यधनिक हथियार मिशाले तोपे है। सीमा तक हमारे सड़के पहुँच चुकी है।

अपने ननिहाल पहुंच बिपिन रावत का जहां भारत माँ के नारों के साथ ग्रामीणों ने आर्मी चीफ का स्वागत किया तो वहीं विदा भी किया।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: