बृहस्पतिवार, 6 अक्टूबर 2022 | 06:36 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | अंकिता भंडारी मर्डर केस में पुलिस का खुलासा, अंकिता को चीला रोड नहर में धक्का दिया गया

अंकिता भंडारी मर्डर केस में पुलिस का खुलासा, अंकिता को चीला रोड नहर में धक्का दिया गया


 

अंकिता भंडारी केस में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने पूछताछ में कबूल कर लिया है कि अंकिता की हत्या की गई है। घटना के दिन अभियुक्तों ने आपसी विवाद के बाद अंकिता को चीला रोड के पास नहर में धक्का दे दिया, जिसके बाद वो डूब गई। एसडीआरएफ की टीम शव की तलाश कर रही है।

इस बीच अंकिता भंडारी हत्या मामले में लोगों में भी आक्रोश है। आज आक्रोशित ग्रामीणों ने रिजॉर्ट तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की। ऐसे में मौके पर मौजूद भारी पुलिस बल ने बमुश्किल ग्रामीणों को रोका है।

इस केस में मुख्य आरोपी पुलकित आर्य हरिद्वार के भाजपा नेता विनोद आर्य का पुत्र है. पुलिस ने रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित सहित तीन लोगों को अरेस्ट कर लिया है। इस बीच सियासत भी तेज हो गई है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने भाजपा पर हमला बोला है।  करन माहरा ने कहा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के शासनकाल में जगह-जगह बेटियों पर अत्याचार हो रहे हैं, जो कि एक चिंता का विषय है।

आपको बता दें कि उत्तराखण्डी मुद्दों से जुड़े सोशल मीडिया पेज और यू-ट्यूब चैनल्स में अंकिता भंडारी के लापता होने संबंधित जानकारी दी जा रही थी। हिमालयन न्यूज़ ने भी लगातार इस पर जानकारी साझा की। मामला वायरल होने के बाद 22 सितम्बर के दिन यह मामला राजस्व पुलिस से नागरिक पुलिस में ट्रांसफर कर दिया गया है।

आपको बता दें कि 19 सितम्बर को रिजार्ट के संचालक पुलकित आर्य ने राजस्व पुलिस को अंकिता की गुमशुदगी की तहरीर दी. राजस्व क्षेत्र गंगा भोपगुर स्थित वनंतरा रिजार्ट में ग्राम श्रीकोट पट्टी नांदलस्यूं पौड़ी गढ़वाल निवासी 19 साल की अंकिता भंडारी रिसेप्शनिस्ट के तौर पर अगस्त से काम कर रही थी.

आरोपियों के मुताबिक अंकिता कुछ समय से मानसिक तनाव में थी. उसके मन को बहलाने के लिए पुलकित और सौरभ उसे 18 सितंबर को दुपहिया वाहन पर ऋषिकेश की ओर ले गए थे. जहां से देर शाम को वह सभी रिजॉर्ट में लौट आए थे। इसके बाद वह अपने-अपने कमरे में सोने के लिए चले गए। 19 सितंबर की सुबह पता चला कि अंकिता अपने कमरे में नहीं है जिसके बाद अंकिता की काफी तलाश की गई मगर, उसका कुछ पता नहीं चल पाया।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: