बृहस्पतिवार, 6 अक्टूबर 2022 | 07:25 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | अंकिता भंडारी अपहरण केस की गुत्थी नहीं सुलझी, पुलिस का जांच तेज करने का दावा

अंकिता भंडारी अपहरण केस की गुत्थी नहीं सुलझी, पुलिस का जांच तेज करने का दावा


ऋषिकेश से संदिग्ध परिस्थतियों में लापता रिसॉर्ट की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। अंकिता भंडारी अपहरण केस की जांच अब लक्ष्मणझूला पुलिस के हाथों में आ गई है। इस बीच सोशल मीडिया पर ये मुद्दा गरम हो रहा है, लोग पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध मान रहे हैं।

आपको बता दें कि पांच दिन पहले रिसार्ट रिसेप्शनिस्ट अंकिता लापता हुई थी। युवती की गुमशुदगी की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने गुरुवार से जांच शुरू दी है। रिसॉर्ट पहुंचकर पुलिस ने कार्यरत कर्मचारियों से घंटों पूछताछ की। हालांकि अभी तक पुलिस मामले की तह तक नहीं पहुंच पाई। पुलिस का दावा है कि युवती के लापता होने के राज से जल्द पर्दा उठाया जायेगा।

लक्ष्मणझूला पुलिस के मुताबिक चीला बैराज मार्ग पर गंगाभोगपुर में स्थित रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट का काम करने वाली युवती अंकिता भंडारी (19) पुत्री वीरेंद्र भंडारी निवासी ग्राम श्रीकोट, पौड़ी गढ़वाल 19 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई। इसकी रिपोर्ट रिसॉर्ट संचालक ने 20 सितंबर को राजस्व पुलिस में दर्ज करवाई। राजस्व पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन अंकिता को खोज नहीं पाई। इसके बाद अब केस लक्ष्मणझूला पुलिस को सौंप दिया गया है। गुरुवार को लक्ष्मणझूला थाना पुलिस जांच के लिए रिसॉर्ट पहुंची और वहां पर चार कर्मचारियों से घंटों पूछताछ की, लेकिन फिलहाल पुलिस को इस मामले में कोई खास सुराग हाथ नहीं लगा। वहीं ग्रामीणों और परिजनों का भी पुलिस को गुस्सा झेलना पड़ा। लक्ष्मणझूला थाना निरीक्षक संतोष सिंह कुंवर ने बताया की अंकिता केस की पुलिस ने जांच शुरू कर दी। आसपास और साथ में काम करने वालों से पूछताछ की जा रही है। मामले में पुलिस हर एंगल से जांच में जुटी है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: