सोमवार, 27 सितंबर 2021 | 03:16 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | दुनिया | अफगानिस्तान में कब्जे के बाद तालिबान ने अमेरिका को दी खुली धमकी

अफगानिस्तान में कब्जे के बाद तालिबान ने अमेरिका को दी खुली धमकी


अफगानिस्तान में कब्जे के बाद तालिबान ने अपने ढंग दिखाना शुरू कर दिए हैं। इस बीच तालिबान ने दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका को धमकी दी है। अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों सैनिकों की वापसी का अभियान 31 अगस्त तक पूरा हो जाएगा। इस बीच देश छोड़कर जाते सैनिकों को लेकर तालिबान ने अमेरिका को खुली धमकी दी है। तालिबान ने कहा है कि अगर 31 अगस्त तक सैनिकों की वापसी का काम पूरा नहीं हुआ तो अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। अमेरिका राष्ट्रपति ने पहले सैनिकों की वापसी के लिए 11 सितंबर की तारीख का लक्ष्य रखा था जिसे बाद में 31 अगस्त कर दिया गया। इसके साथ ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन मंगलवार को इमरजेंसी जी 7 बैठक कर सकते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से 31 अगस्त के बाद भी अफगानिस्तान में सेना को रोकने के लिए कहेंगे, ताकि लोगों को काबुल एयरपोर्ट से निकालने के लिए और समय मिल सके। हजारों की संख्या में अफगानी और विदेशी नागरिक काबुल एयरपोर्ट पर इस इंतजार में बैठे हैं कि उन्हें कोई फ्लाइट मिले जिससे वो अफगानिस्तान छोड़कर जा सकें। अफगानिस्तान की सत्ता पर कब्जा करने के बाद भी तालिबान के मंसूबे पूरे नहीं हुए हैं। पूरे मुल्क पर कब्जा करने के लिए वह लगातार आगे बढ़ रहा है। सोमवार को खबर आई कि तालिबान ने बगलान प्रांत के तीन जिलों पर कब्जा कर लिया। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने दावा किया है कि बगलान प्रांत के पुल-ए-हिसाल, बन्नू, देह सालेह जिलों को 'दुश्मन' के कब्जे से आजाद करवा लिया गया है। इस तरह तालिबान अफगानिस्तान पर लगातार कब्जा करता जा रहा है।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: