सोमवार, 24 फ़रवरी 2020 | 08:46 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | क्राइम | आखिर क्यों अपने बच्चों के गुनहगार बन बैठे माता-पिता

आखिर क्यों अपने बच्चों के गुनहगार बन बैठे माता-पिता


मां-बाप जहां बच्चों की खुशी के लिए कुछ भी कर गुजरते हैं, वही अमेरिका के कैलिफोर्निया से ऐसी खबर आई है जिसने सभी को दंग कर दिया है। खबर है कि एक मां-बाप ने अपने ही घर में अपने 13 बच्चों को बंधक बना रखा था। लेकिन पुलिस ने कार्यवाही करते हुए मां-बाप दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं बच्चों की हालत बेहद खराब है वे कुपोषण का शिकार हो चुके हैं।

 


बता दें, कि पुलिस ने कहा है कि जब उन्होंने बच्चों को मुक्त कराया, तो वे एक अंधेरे कमरे में पलंग से बंधे हुए थे। पुलिस ने बच्चों को प्रताड़ित किए जाने के मामले में 57 वर्षीय डेविड एलेन तुरपिन और 49 वर्षीय लुइस अन्ना तुरपिन के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। वहीं पुलिस ने उनकी जमानत राशि 90 लाख डॉलर तय की है। वहीं पुलिस की टीम इस मामले में पूछताछ कर रही है। आपको बता दें कि आरोपी दंपति की 17 वर्षीय लड़की किसी तरह से नजर बचाते हुए घर से भाग निकली, उसके बाद उसने 911 पर फोन कर इस मामले की सूचना दी। वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लड़की इतनी कुपोषित लग रही थी कि उन्हें लगा कि उसकी उम्र सिर्फ 10 साल है।

 

रिवरसाइड काउंटी शेरिफ विभाग ने एक बयान में बताया कि 13 पीड़ितों को कैलिफोर्निया के एक घर में बंधक बनाकर रखा गया था, उनकी उम्र 2 साल से 29 साल के बीच है। जांच में सामने आया है कि कई बच्चों को अंधेरे में उनके पलंग से चेन और ताले से बांधकर रखा गया था। उनके आसपास से बदबू आ रही थी। बच्चों को इस तरह दयनीय हालत में रखने का कोई ठोस कारण का अभी तक पता नहीं चला है। वहीं अधिकारियों को लगा कि घर के भीतर सभी बच्चे हैं, लेकिन वे तब हैरान रह गए जब उन्हें पता चला कि इनमें से 7 वयस्क थे, जिनकी आयु 18 से 29 साल के बीच है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: