मंगलवार, 16 जुलाई 2019 | 04:16 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
दिल्ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, गर्मी और उमस से मिली राहत          हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत गिरने की वजह से अब तक सेना के 6 जवानों सहित सात लोगों की मौत           भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम दो खेमों में बंट गई है          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          अयोध्या केस मध्यस्थता पैनल 18 जुलाई को पेश करे रिपोर्ट, सुप्रीम कोर्ट का निर्देश          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | क्राइम | आखिर क्यों अपने बच्चों के गुनहगार बन बैठे माता-पिता

आखिर क्यों अपने बच्चों के गुनहगार बन बैठे माता-पिता


मां-बाप जहां बच्चों की खुशी के लिए कुछ भी कर गुजरते हैं, वही अमेरिका के कैलिफोर्निया से ऐसी खबर आई है जिसने सभी को दंग कर दिया है। खबर है कि एक मां-बाप ने अपने ही घर में अपने 13 बच्चों को बंधक बना रखा था। लेकिन पुलिस ने कार्यवाही करते हुए मां-बाप दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं बच्चों की हालत बेहद खराब है वे कुपोषण का शिकार हो चुके हैं।

 


बता दें, कि पुलिस ने कहा है कि जब उन्होंने बच्चों को मुक्त कराया, तो वे एक अंधेरे कमरे में पलंग से बंधे हुए थे। पुलिस ने बच्चों को प्रताड़ित किए जाने के मामले में 57 वर्षीय डेविड एलेन तुरपिन और 49 वर्षीय लुइस अन्ना तुरपिन के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। वहीं पुलिस ने उनकी जमानत राशि 90 लाख डॉलर तय की है। वहीं पुलिस की टीम इस मामले में पूछताछ कर रही है। आपको बता दें कि आरोपी दंपति की 17 वर्षीय लड़की किसी तरह से नजर बचाते हुए घर से भाग निकली, उसके बाद उसने 911 पर फोन कर इस मामले की सूचना दी। वहीं पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लड़की इतनी कुपोषित लग रही थी कि उन्हें लगा कि उसकी उम्र सिर्फ 10 साल है।

 

रिवरसाइड काउंटी शेरिफ विभाग ने एक बयान में बताया कि 13 पीड़ितों को कैलिफोर्निया के एक घर में बंधक बनाकर रखा गया था, उनकी उम्र 2 साल से 29 साल के बीच है। जांच में सामने आया है कि कई बच्चों को अंधेरे में उनके पलंग से चेन और ताले से बांधकर रखा गया था। उनके आसपास से बदबू आ रही थी। बच्चों को इस तरह दयनीय हालत में रखने का कोई ठोस कारण का अभी तक पता नहीं चला है। वहीं अधिकारियों को लगा कि घर के भीतर सभी बच्चे हैं, लेकिन वे तब हैरान रह गए जब उन्हें पता चला कि इनमें से 7 वयस्क थे, जिनकी आयु 18 से 29 साल के बीच है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: