बृहस्पतिवार, 8 दिसम्बर 2022 | 04:26 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | क्राइम | उत्तराखण्ड के गैरकानूनी स्पा सेंटर्स के खिलाफ अभियान, दो स्पा सेंटर और एक रिजॉर्ट सील

उत्तराखण्ड के गैरकानूनी स्पा सेंटर्स के खिलाफ अभियान, दो स्पा सेंटर और एक रिजॉर्ट सील


अंकिता भंडारी हत्याकांड में लोगों के गुस्से को देखते हुए धामी सरकार फूंक फूंक कर फैसले ले रही है। लोगों की मांग पर ध्यान देते हुए अब स्पा सेंटर्स पर कार्रवाई शुरू हो गई है। ऋषिकेश गंगा भोगपुर में दो स्पा सेंटर और एक रिजॉर्ट सील कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद यमकेश्वर तहसील प्रशासन ने गंगा भोगपुर में बने जंगल रिजॉर्ट में छापा मारा। प्रशासन ने दस्तावेज न प्रस्तुत करने पर एक रिजॉर्ट को सील कर दिया। वहीं प्रशिक्षित कर्मचारी न होने के चलते दो जंगल रिजॉर्ट के स्पा सेंटर को सील कर दिया।

रविवार को एसडीएम यमकेश्वर प्रमोद कुमार की अगुवाई में तहसील प्रशासन की टीम गंगा भोगपुर स्थित जंगल रिजॉर्ट्स पहुंची। टीम सबसे पहले नीरज रिवर जंगल रिजॉर्ट में पहुंची। यहां एसडीएम ने रिजॉर्ट के मैनेजर को स्पा सेंटर के प्रशिक्षित कर्मचारियों, स्पा सेंटर में आने वाले ग्राहकों और कर्मचारियों के पहचान से संबंधित दस्तावेजों की जानकारी मांगी।

रिजॉर्ट के मैनेजर ने बताया कि स्पा सेंटर का संचालन ऋषिकेश स्थित नीरज क्लीनिक से होता है। उन्होंने बताया कि स्पा सेंटर में मसाज करने वाली टीम बुलाने पर आती है। मैनेजर ने कर्मचारियों के पहचान संबंधी दस्तावेज और प्रशिक्षित कर्मचारियों की जानकारी भी उपलब्ध नहीं करा पाया। इसके बाद एसडीएम ने रिजॉर्ट के स्पा सेंटर को सील कर दिया। 
इसके बाद टीम ने पनांबी रिजॉर्ट पर पहुंची। यहां रिसेप्शन के पांच सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे। रिजॉर्ट के अन्य स्थानों के कैमरे बंद पड़े थे। यहां भी रिजॉर्ट के स्पा सेंटर प्रशिक्षित कर्मचारी नहीं थे। इस पर एसडीएम प्रमोद कुमार ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि बिना प्रशिक्षित कर्मचारी के कैसे स्पा सेंटर संचालित किया जा रहा है।
 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: