सोमवार, 23 सितंबर 2019 | 09:26 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सेंसेक्स के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी तेजी, 1 दिन में ही निवेशकों को 7 लाख करोड़ रुपए का फायदा          इंतजार खत्म- वायुसेना को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, दिया गया नए वायुसेना प्रमुख का नाम          जीएसटी काउंसिल की बैठक: ऑटो सेक्टर को नहीं मिली राहत, होटल कमरों पर कम हुई टैक्स दर          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          मौत का एक्सप्रेस वे बना यमुना एक्सप्रेस वे, इस साल हादसों में गई 154 लोगों की जान          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब, एम्स ऋषिकेश में भर्ती

पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब, एम्स ऋषिकेश में भर्ती


पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब, एम्स ऋषिकेश में भर्ती

पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब होने की खबर है। जिसके बाद उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है। हालांकि इस मामले में पतंजलि योगपीठ प्रबंधन इस कुछ भी कहने से बच रहा है।

पतंजलि योगपीठ के महामंत्री और योग गुरु बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ने पर आज उन्हें हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ स्थित ऑफिस से ऋषिकेश के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि आचार्य बालकृष्ण को बेसुध हालत में पहले तो हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें ऋषिकेश के एम्स के लिए रेफर कर दिया.

बता दें कि बालकृष्ण वे संस्कृत में आयुर्वेदिक औषधियों और जड़ी-बूटियों के ज्ञान में निपुणता हासिल की है और इसका प्रचार-प्रसार का कार्य करते रहे हैं। आचार्य बालकृष्ण ने पतंजलि योगपीठ के आयुर्वेद केंद्र के माध्यम से पारंपरिक आयुर्वेद पद्धति को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। बालकृष्ण ने आयुर्वेदिक औषधियों से सम्बंधित कई पुस्तकें भी लिखी हैं।

बालकृष्ण ने रामदेव के साथ मिलकर हरिद्वार में आचार्यकुलम की स्थापना की थी। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान से भी जुड़े हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: