सोमवार, 22 जुलाई 2019 | 10:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
चांद पर चला चंद्रयान-2, ISRO ने फिर रच दिया इतिहास,देशभर में खुशी की लहर          81 साल की उम्र में शीला दीक्षित का निघन          शीला दीक्षित 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं थी          दिल्ली की सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का दिल्ली में निधन          इसरो ने किया ऐलान, अब 22 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-2          कुलभूषण जाधव मामले पर पीएम मोदी ने जताई खुशी कहा- ये सच्चाई और न्याय की जीत है          भारतीय वायुसेना के लिए गेम चेंजर साबित होगी राफेल-सुखोई की जोड़ी,एयर मार्शल भदौरिया          कुलभूषण जाधव केस, ICJ में भारत की बड़ी जीत, फांसी की सजा पर रोक, पाकिस्तान को सजा की समीक्षा का आदेश          गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- सभी घुसपैठियों और अवैध प्रवासियों को करेंगे देश से बाहर          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | दुनिया | 9 साल बाद भारत आया बेबी मोशे

9 साल बाद भारत आया बेबी मोशे


2008 में 26 नवम्बर को जो हमला मुम्बई ताज होटल पर हुआ था उस में ना जाने कितने परिवारों को घर से बेघर होना पड़ा था और उन में ही इजराइल का 2 साल का बच्चा था जो आज पीएम मोदी से मिलने भारत आया है आपको बता दे ये वो ही बच्चा है जिसने इस हमले में अपने मां बाप को खो दिया था। जिसका नाम बेबी मोशे है और आज 11 साल का हो गया है। वहीं नरेन्द्र मोदी ने उनका स्वागत करते हुए बच्चे को गले लगाया लिया।

 

इस दौरान वह मुम्बई के नरीम हाउस के साथ- साथ गेटवे ऑफ इंडिया और होटल ताज घूमने जाएंगे। दरअसल बेबी मोशे और उसके माता पिता मुम्बई के एक नरीमन हाउस में रहते थे। वह एक सैन्ड्रा सेमुअल के यहां पर मोशे की आय के तौर पर काम करते थे। बताया जाता है जिस रात ये हादसा हुआ था सेमुअल ने ही उन्हें वहां ठहरने के लिए मजबूर किया था।

 

उसको पहले से ही पता था कि यहां पर क्या होने वाला है। तभी सैन्ड्रा पहले ही अलर्ट हो थी गोलियों की आवाज सुनते ही सैन्ड्रा ने नीचे रखा फोन छुपा दिया और फिर उसका तार भी काट दिया। और खुद लॉन्ड्री रुम में जाकर छिप गई। सुबह होने पर वह बाहर निकली तो उसे मोंशे की आवाज सुनाई दी। वह उपर के कमरे में गई तो उसने देखा कि मोंशे के माता पिता व अन्य इजराइली खून से लथपथ पड़े हुए मिले। उनकी मौत हो चुकी थी। और बेबी मोंशे उनके पास बैठा हुआ था। वह कहती है कि मेंने उसे उठाया और बाहर भागकर अपनी और उसकी जान बचाई।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: