सोमवार, 8 अगस्त 2022 | 06:34 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
प. बंगाल: अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 28.90 करोड़ रुपये और 5 किलो से ज्यादा सोना बरामद          उत्तराखंड में कोरोना के 334 नए मामले, 2 लोगों की मौत          1 से 4 अगस्त तक भारत दौरे पर रहेंगे मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह          बंगाल शिक्षा घोटाला: पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से हटाया गया           संसद में स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के बीच नोकझोंक           गुजरात: जहरीली शराब कांड में एक्शन, SP का तबादला, 2 डिप्टी SP सस्पेंड           दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार          पार्थ चटर्जी के घर में चोरी, लोग समझे ED का छापा पड़ा है          कर्नाटक में प्रवीण हत्याकांड में पुलिस ने अब तक 21 लोगों की हिरासत में लिया         
होम | पर्यटन | उत्तराखंड में परिवहन विभाग ने 25% किराया बढ़ाया, जानिए अब कितना देना होगा सफर का किराया

उत्तराखंड में परिवहन विभाग ने 25% किराया बढ़ाया, जानिए अब कितना देना होगा सफर का किराया


उत्तराखंड में परिवहन विभाग ने किराये में 25 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की... पिछले काफी समय से रोडवेज कर्मचारियों के साथ-साथ प्राइवेट ऑपरेटर्स भी लगातार किराए को बढ़ाने की मांग कर रहे थे...जिसके चलते उत्तराखंड परिवहन विभाग में सार्वजनिक परिवहन के किराए में 25% तक की बढ़ोतरी हो गई है। 

 

आखिरकार उत्तराखण्ड परिवहन विभाग ने सार्वजनिक परिवहन के किराये में 25 प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी करने का फैसला लें लिया जी हाँ पिछले काफी समय से रोडवेज कर्मचारियों के साथ-साथ प्राइवेट ऑपरेटर्स भी लगातार किराए को बढ़ाने की मांग कर रहे थे जिसको लगातार टाला जा रहा था लेकिन अब इस पर फैसला ले लिया गया है। बढ़ी हुई दरें 16 जुलाई यानि आज से ही लागू हो गई हैं।

 

इसके बाद रोडवेज से लेकर टैक्सी, विक्रम, मैक्स में सफर करना महंगा होगा। यात्रियों को पहले से 20 से 25% तक अधिक देना पड़ सकता है। AC और वोल्वो बस का किराया 80 रुपए से 95 रुपए तक बढ़ा है। ऑटो रिक्शा में पहले 2 किलोमीटर तक 60 रुपए और उसके बाद 18 रुपए प्रति किलोमीटर की दर से किराया लिया जा सकेगा। इसके अलावा पांच से सात सीटर क्षमता वाले तीन पहिया गाड़ियों पर पहले 2 किलोमीटर 50 रुपए किराया लिया जा सकेगा।

 

परिवहन की हुई बैठक में बस और टैक्सियों के किराए में लगभग 22% बढ़ाए गए हैं। चारधाम हेतु संचालित बसों के किराए में 27% की बढ़ोतरी हुई है। दो और तिपहिया वाहनों के लिए लगभग 15 से 18% की वृद्धि की गई है। इसके अलावा माल भाड़े में लगभग 38 फ़ीसदी की वृद्धि करने का फैसला लिया गया है। साल 2016 के बाद से माल भाड़ा अब बढ़ाया गया है। परिवहन निगम भी अधिकतम 20% कर्मचारी कल्याण अधिकार आरोपित कर सकता है । वही रिक्शा किराए पर चलाने वाले दुपहिया वाहनों और एंबुलेंस के लिए भी पहली बार दरें तय की गई हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: