बुधवार, 23 जून 2021 | 11:01 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम रावत ने रेल विकास निगम के अधिकारियों से ली ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन की जानकारी          हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए वेंटिलेटर,ऑक्सीमीटर एवं सैनिटाइजर सहित अन्य सामान          सीएम ने दिखाई पांच वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई          पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी         
होम | सेहत | 2 साल के बच्चे पर हुआ कोरोना वैक्सीन का असर

2 साल के बच्चे पर हुआ कोरोना वैक्सीन का असर


देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आज 2 साल के बच्चे पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया गया है।
कोरोना वायरस की तीसरी लहर बच्चों के लिए सबसे ज्यादा घातक बताई जा रही है। तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं। दो साल के बच्चों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल कानपुर में किया जा रहा है। अभी तक दुनिया में इतने छोटे बच्चों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल कहीं नहीं किया गया है। बच्चों को तीन ग्रुप में बांटकर वैक्सीन का ट्रायल कानपुर में किया जा रहा है। जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। जो कि एक राहत भरी खबर है।
भारत बायोटेक की को-वैक्सीन ने बच्चों पर ट्रायल शुरू किया है। कानपुर के प्रखर हॉस्पिटल में बीते मंगलवार से बच्चों पर ट्रायल शुरू किया गया था। वैक्सीन ट्रायल के लिए बच्चों को तीन ग्रुप में बांटा गया है। पहले ग्रुप में दो साल से छह साल, दूसरे ग्रुप में 6 साल से 12 साल और तीसरे ग्रुप में 12 साल से 18 साल के बच्चों को रखा गया है। जिसके परिणामों को लेकर चर्चा हो रही है। कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए ये कदम उठाया गया है। इन परिणामों को देखते हुए ही कोरोना से बच्चों को बचाया जायेगा। और कोरोना वैक्सीन दी जाएगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: