शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024 | 07:54 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | विचार

विचार

पौड़ी गढ़वाल सीट पर - अनिल बलूनी बनाम गणेश गोदियाल

1990 से पहले इस सीट पर कांग्रेस का एकक्षत्र राज रहा था, लेकिन उसके बाद इसे बीजेपी के मजबूत किले के तौर पर देखा जाने लगा है. बीजेपी नेता जनरल बीसी खंडूड़ी सबसे ज्यदा पांच बार यहां से सांसद बने। उन्होंने 1991 से लेकर 2014 तक लगातार इस सीट पर जीत हासिल की है. और पढ़ें »

महिलाओं को इलाज की सुविधा मुद्दा क्यों नहीं बन पाता ?

चार जनपदों की 14 विधानसभा में पंजीकृत कुल 13लाख 59हजार 815 मतदाताओं के सापेक्ष महिल वोटरों की संख्या करीब-करीब आधी है। यहां कुल 6लाख 50हजार 677 महिला मतदाता पंजीकृत हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी से जूझ रहे हैं। और पढ़ें »

पिछली बार से कैसे अलग है इस बार का किसान आंदोलन, क्या मोदी जिम्मेदार हैं ?

इस बार आंदोलन की अगुवाई भारतीय किसान यूनियन (एकता-सिद्धूपुर) के मुखिया जगजीत सिंह डल्लेवाल कर रहे हैं। उनका साथ दे रही है किसान मजदूर संघर्ष कमेटी। इस कमेटी के अगुवा के तौर पर एक किसान नेता सरवन सिंह पंधेर का नाम सबसे आगे चल रहा है। इस कमेटी का कार्यक्षेत्र अमृतसर है हालांकि बाकी कई जिलों के किसान इनके साथ जुड़े हैं। ये संगठन 13 साल पुराना है और पिछले किसान आंदोलन में भी सक्रिय रहा था। और पढ़ें »

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा कामयाब क्यों नहीं हो पा रही ?

पूरा पूर्वोत्तर पार करके राहुल की भारत जोड़ो न्याय यात्रा कूच बिहार के जरिए बंगाल में प्रवेश कर गई। दो दिन की छुट्टी के दौरान राहुल गांधी के पास खासा वक्त होगा, कि आगे की रणनीति कैसे तय की जाए। यात्रा के रफ्तार न पकड़ पाने से परेशान राहुल गांधी ने पार्टी महासचिव और संचार विभाग के पूर्व प्रमुख रणदीप सुरजेवाला को बुलाया और पढ़ें »

बागपत से ही चुनाव मैदान में क्यों उतर रहे हैं जयंत चौधरी ?

2019 में बीजेपी के डॉ. सत्यपाल सिंह इस सीट पर 23502 वोटों से चुनाव जीते हैं। आरएलडी के लिए अच्छी बात ये रही कि 2014 में जहां अजित सिंह तीसरे नंबर पर थे 2019 में जयंत सीधे मुकाबले में आ गए थे और मोदी लहर के बावजूद केवल 25 हजार के अंतर से हारे थे। आरएलडी को उम्मीद है कि इस बार वो अंतर खत्म हो जाएगा और पढ़ें »

कांग्रेस ने प्रियंका गांधी से यूपी का प्रभार क्यों वापस लिया ?

गांधी परिवार अब प्रियंका को पूरी तरह बड़े नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करना चाहता है। अगर राहुल गांधी प्लान ए है तो प्रियंका गांधी वाड्रा प्लान बी हैं। ये भी खबर है कि प्रियंका गांधी भारत जोड़ो यात्रा में भी शिरकत कर सकती हैं। पिछली बार अमेठी से राहुल गाधी चुनाव हार गए थे। और पढ़ें »

देश पर फिर मंडराया कोरोना का ख़तरा

सबसे चिन्ता की बात ये है कि केरल के बाद महाराष्ट्र, गोवा में नए वेरिएंट के केस बढ़ने लगे हैं। चिंता की बात यह है कि नए वैरिएंट की रफ्तार बढ़ने के साथ अचानक कोरोना के मामलों में भी तेज बढ़ोतरी हुई है। और पढ़ें »

मोदी ने भजन लाल शर्मा को क्यों बनाया राजस्थान का सीएम?

वसुंधरा राजे को बड़ी मुश्किल से मनाया गया है। वसुंधरा हर हाल में एक साल के सीएम का पद मांग रही थीं। वे राजस्थान से लेकर दिल्ली तक के चक्कर लगाकर आ गईं थी. वसुंधरा के अशोक गहलोत से अच्छे संबंध सबको पता है, इसलिए मोदी डर रहे थे. और पढ़ें »

योगी ने एक झटके में आतंकी फंडिंग की कमर तोड़ दी

अकेले यूपी में ही 30 हजार करोड़ का सामान ऐसा बिकता है, जिसमें हलाल सर्फिकिकेट जरूरी माना जाता है, इसमें 1400 होटल, रेस्टोरेन्ट भी हैं। अब आप समझ सकते हैं हलाल सर्टिफेकेट जारी करने वाली संस्थाओं का जलवा कितना है। और पढ़ें »

क्या गिरफ्तार हो जाएंगे दिल्ली के सीएम केजरीवाल ?

दिल्ली शराब घोटाले की जांच दो केंद्रीय एजेंसियां कर रही हैं- सीबीआई और ईडी। ईडी ने अपनी एक चार्जशीट में दावा किया है कि 'घोटाले के लिए बनाई गई' नई आबकारी नीति दरअसर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजीरवाल के दिमाग ही उपज थी। अरविंद केजरीवाल का नाम प्राइवेट कंपनियों के लिए कमीशन तय करने, शराब कारोबार में दक्षिण भारत के नेताओं और कारोबारियों को हिस्सेदार देने संबंधी मामलों में आया है। ईडी ने इस वर्ष जनवरी में दायर चार्जशीट में दावा किया था कि बिजनसमैन समीर महेंद्रू से केजरीवाल ने ही कहा था कि विजय नायर उनका आदमी है और महेंद्रू, नायर पर भरोसा कर सकते हैं। नायर ने वीडियो कॉल करके महेंद्रू और केजरीवाल की बात करवाई थी। मनीष सिसोदिया के सचिव रहे सी अरविंद ने 7 दिसंबर, 2022 को जांच एजेंसियों के सामने अपना बयान दर्ज करवाया कि होलसेल बिजनस के लिए प्रॉफिट मार्जिन बढ़ाकर 12 प्रतिशत करने की जानकारी उन्हें सीएम केजरीवाल के आवास पर ही दी गई। ईडी ने दावा किया कि आंध्र प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस के सांसद मगुंटा श्रीनिवासुलु रेड्डी ने केजरीवाल से मुलाकात की थी और केजरीवाल ने दिल्ली के शराब कारोबार में उनकी हिस्सेदारी के लिए बधाई दी थी। और पढ़ें »

महिला आरक्षण विधेयक में कितने पेंच हैं, सच्चाई जान लीजिए.

अगर उस समय सोनिया गांधी जी ने मजबूत इच्छाशक्ति दिखाई होती तो आज इतिहास में मोदी की जगह उनका नाम होता- मनमोहन सिंह जी का नाम होता, निश्चित ही राहुल जी को इसका फायदा मिलता। लेकिन चलिए सियासत ऐसे ही काम करती है। और पढ़ें »

घोसी उपचुनाव में अखिलेश यादव की 'दमदार जीत' के 5 बड़े कारण

घोसी उपचुनाव का घमासान जैसे जैसे आगे बढ़ने लगा वैसे ही बीजेपी को अहसास होने लगा था कि अखिलेश ने सवर्ण प्रत्याशी सुधाकर सिहं को उतारकर कहीं न कहीं बढ़त ले ली है। बीजेपी ने बहुत कोशिश की कि बीएसपी किसी मुसलिम उम्मीदवार को उतार दें, लेकिन मायावती ने अपने वोटरों के सामने बीजेपी पर हमला कर दिया। यहीं से पहले उलझन में चल रहे बीएसपी समर्थकों को संदेश चला गया कि उनको क्या करना है। सवर्ण ने भी इस बार तय कर लिया था दलबदलू कहे जाने वाले दारा सिंह को सबक सिखाना है। और पढ़ें »

राहुल गांधी को 'डील' करने में बड़ी 'ग़लती' कर गए मोदी ?

लोकसभा चुनाव से पहले सुप्रीम कोर्ट से राहुल गांधी को मिली ये बड़ी राहत कांग्रेस का हौसला बढ़ाने वाली है। 'मोदी सरनेम' पर टिप्पणी से जुड़े मानहानि केस में सूरत कोर्ट से राहुल गांधी को सजा सुनाए जाने और उसके बाद उनकी संसद सदस्यता रद्द होने के बाद कांग्रेस की हालत एक ऐसी सेना की हो गई थी जिसका सेनापति ही चाहते हुए भी युद्ध में हिस्सा नहीं ले पा रहा। सेनापति की वापसी से सेना का जोश हाई होना लाजिमी है। और पढ़ें »

विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव क्यों लेकर आया ?

बुधवार विपक्ष की ओर से केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया। अब ऐसे में सवाल है कि संख्याबल कम होने के बावजूद विपक्ष ऐसा क्यों कर रहा। और पढ़ें »

मोदी को हराने के लिए कांग्रेस को 'ख़ून का घूंट' पीना होगा !

यहां भी कांग्रेस को अखिलेश और जयंत के सामने सरेंडर करना होगा और ज़्यादा से ज़्यादा दस सीटों पर संतोष करना होगा। यह स्थिति बीजेपी के लिए बहुत फायदेमंद होगी। और पढ़ें »
© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: