शुक्रवार, 7 अगस्त 2020 | 09:43 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की नींव, देश भर में घर-घर दीप प्रज्ज्वलित कर मनाई जा रही है खुशियां          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           कोटद्वार में अतिवृष्टि से सड़क पर आया मलबा, बरसाती नाले में बही कार, चालक की मौत          चारधाम देवस्थानम बोर्ड मामले में उत्तराखंड सरकार को बड़ी राहत,सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका हाईकोर्ट          प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की केदारनाथ के निर्माण कार्यों की समीक्षा, कहा धाम के अलौकिक स्वरूप में और भी वृद्धि होगी          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | साहित्य

साहित्य

सीएम रावत ने किया टिहरी गढ़वाल की स्मारिका‘गंगा अमृत’का विमोचन

सीएम रावत ने किया टिहरी गढ़वाल की स्मारिका‘गंगा अमृत’का विमोचन और पढ़ें »

आज की नहीं उत्तराखंड की संस्कृति?

सरदार पटेल के दिमाग में कुमाऊं-गढ़वाल का भूगोल बैठ गया था, और पढ़ें »

अपनी कहानियों में पहाड़ के दर्द को बयां करने वाले सशक्त हस्ताक्षर पानू खोलिया नहीं रहे

अपनी कहानियों में पहाड़ के दर्द को बयां करने वाले सशक्त हस्ताक्षर पानू खोलिया नहीं रहे और पढ़ें »

हिंदी के वरिष्ठ साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल नहीं रहे,सड़क दुर्घटना में पुत्री-पोते का भी निधन

हिंदी के वरिष्ठ साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल नहीं रहे,सड़क दुर्घटना में पुत्री-पोते का भी निधन और पढ़ें »

पर्यावरणविद एवं समाजसेवी चंड़ीप्रसाद भट्ट इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार से सम्मानित

पर्यावरणविद एवं समाजसेवी चंड़ीप्रसाद भट्ट इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार से सम्मानित और पढ़ें »

बी मोहन नेगी के चित्र शिल्प में काव्य सँग्रह जीवन पथ पर निशंक का विमोचन

बी मोहन नेगी के चित्र शिल्प में काव्य सँग्रह जीवन पथ पर निशंक का विमोचन और पढ़ें »

गढ़वाली,कुमाँऊनी एवं जौनसारी भाषा अकादमी के गठन में योगदान के लिए उत्तराखंड वासियों का आभार

गढ़वाली,कुमाँऊनी एवं जौनसारी भाषा अकादमी के गठन में योगदान के लिए उत्तराखंड वासियों का आभार और पढ़ें »

वरिष्ठ कवि-पत्रकार सुरेंद्र पुंडीर का निधन

वरिष्ठ कवि-पत्रकार सुरेंद्र पुंडीर का निधन और पढ़ें »

लेखक रमेश घिल्डियाल के हिन्दी उपन्यास 'प्रीतम के आशियाने' का लोकार्पण

लेखक रमेश घिल्डियाल के हिन्दी उपन्यास 'प्रीतम के आशियाने' का लोकार्पण और पढ़ें »

हिंदी पत्रकारिता के भीष्म पितामह नंदकिशोर नौटियाल का निधन

हिंदी पत्रकारिता के भीष्म पितामह नंदकिशोर नौटियाल का निधन और पढ़ें »

डॉ. हरिसुमन बिष्ट को रवींद्रनाथ टैगौर अंतरराष्ट्रीय सम्मान

द्वितीय गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगौर अंतरराष्ट्रीय साहित्य पुरस्कार-2019 के लिए प्रतिष्ठित कथाकार, लेखक, नाट्यलेखक डॉ. हरिसुमन बिष्ट को चुना गया है। दिल्ली सरकार में सचिव, हिन्दी अकादमी के रूप में उल्लेखनीय कार्य कर चुके श्री बिष्ट की प्रमुख कृतियाँ हैं - उपन्यास- (1) ममता (2)आसमान झुक रहा है (3)होना पहाड़ (4)आछरी-माछरी (5) बसेरा(6) भीतर कई एकांत । कथा संग्रह - (1)सफेद दाग (2)आग और अन्य कहानियाँ 3)मछरंगा (4)बिजूका (5)मेले की माया (नव साक्षरों के लिए नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा प्रकाशित) (6)उत्तराखण्ड की लोक कथाएं (2011(नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा प्रकाशित) । यात्रा-वृतांत-(1)अन्तर्यात्रा (1998) बांग्ला में अनुवाद ‘आमार ए पोथ‘ (2014)। नाटक- 'ख्वाब एक उड़ता हुआ परिन्दा था '(2012) । उन्होंने कुमांउनी के सुप्रसिद्ध कवि दिवान सिंह की पुस्तक ‘‘दिवानी विनोद’’ का हिन्दी में अनुवाद भी किया है। और पढ़ें »

कुमाऊंनी भाषा में ‘छिलुक’ उपन्यास का विमोचन

उत्तराखंडी संस्कृति को उजागर करने के लिए दिल्ली के गढ़वाल भवन में एक कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में उत्तराखंडी लेखक...... और पढ़ें »

चित्रकार, साहित्यकार एवं कार्टूनिस्ट: बी. मोहन नेगी

उत्तराखंड के प्रख्यात रंगकर्मी, चित्रकार, साहित्यकार एवं कार्टूनिस्ट बी.मोहन नेगी, जो कि अपनी..... और पढ़ें »

नोबेल के इतिहास में यह कैसी भूल जिसकी नहीं हो सकती भरपाई

नोबेल पुरस्कारों की शुरूआत स्वीडन के एल्फ्रेड नोबेल के नाम पर.... और पढ़ें »

आखिर क्यों पसंद है माँ को उल्लू की सवारी ?

माँ लक्ष्मी संपन्नता और धनधान्य की प्रतीक हैं। जिन्हें सभी देवी देवताओँ में सबसे ज्यादा पसंद किया..... और पढ़ें »
© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: