शनिवार, 16 दिसम्बर 2017 | 06:15 IST
दूसरों की बुराई देखना और सुनना ही बुरा बनने की शुरुआत है।
विजय दिवस के मौके पर शहीदों को दी श्रद्धांजली।           अध्यक्ष बनते ही बीजेपी पार्टी पर तगड़े तंज: राहुल गांधी           राहुल गांधी बने कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष।          कोयला घोटाले में मधु कोड़ा को 3 साल की सजा, 25 लाख का जुर्माना           तीन तलाक दिया तो 3 साल की सजा होगी ।          केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ट्रिपल तलाक बिल को दी मंजूरी          राहुल गांधी की ताजपोशी 16 दिसंबर को होगी।          कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष बनने जा रहे है राहुल गांधी          हिमाचल प्रदेश व गुजरात विधानसभा चुनावों के फैसले 18 दिसंबर को होंगे जारी।          राज्यसभा में विपक्षी दलों का हंगामा।          लोकसभा 18 दिसंबर तक के लिए स्थगित ।          18 दिसंबर को होगा फैसला: भाजपा या कांग्रेस         
होम | दुनिया | किसके समर्थन से आंतकी सईद ने किया चुनाव लड़ने का ऐलान?

किसके समर्थन से आंतकी सईद ने किया चुनाव लड़ने का ऐलान?


पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज़ मुशर्रफ आएदिन टीवी चैनल्स पर इंटरव्यू के दौरान अपने विवादित बयानों से खबरों में छाए रहते हैं। ऐसा ही कुछ उन्होंने भारत के मोस्ट वॉन्टेड आतंकी और मुबई हमलों के मास्टर माइंड हाफिज सईद पर बयाव देकर किया। 

 

आपको याद होगा कि बीते दिनों आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जमात उद दावा को समर्थन देकर पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान के आगामी आम चुनाव हाफिज सईद के साथ लड़ने के संकेत दिए थे। इसमें मुशर्रफ ने कहा कि 2018 के चुनाव में 26/11 मुंबई हमले के गुनाहगार और वैश्विक आतंकी सईद के साथ गठबंधन का स्वागत करते हैं।

 

पाकिस्तान के एक टेलीविज़न चैनल पर बातचीत के दौरान जेयूडी से गठबंधन पर पूछे सवाल के जवाब में पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक का ये बयान आया, जिसमें उन्होंने कहा, “हालांकि, अभी ऐसी कोई बात नहीं हुई है, लेकिन, उनके गठबंधन का हिस्सा बनने की इच्छा जताने पर मैं उनका स्वागत करता हूं।” 

 

गौरतलब है कि परवेज मुशर्रफ ने सुन्नी तहरीक, मजलिस-ए-वाहदतुल मुस्लिमीन, पाकिस्तान आवामी तहरीक (पीएटी) और ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एपीएमएल) समेत करीब दो दर्जन पार्टी प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक के बाद नवंबर महीने में आगामी आम चुनाव में महागठबंधन का ऐलान किया था। हालांकि, मुशर्रफ की महागठबंधन वाली घोषणा के बाद कई पार्टियों ने मुशर्रफ के अवामी इत्तेहाद गठबंधन से दूरियां बनाना मुनासिब समझा था।

 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो मुशर्रफ की अध्यक्षता वाले गठबंधन से दो प्रमुख पार्टियां पाकिस्तान अवामी तहरीक और मजलिस वहादत-ए- मुस्लिमीन ने महा-गठबंधन में शामिल होने से इनकार कर दिया है। वहीं, शनिवार को वैश्विक आंतकी घोषित होने के बावजूद पाकिस्तानी धार्मिक कट्टरपंथियों से संबंध रखने वाले हाफिज सईद ने 2018 का आम चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। 

 

बता दें कि हाफिज की ये घोषणा लाहौर हाईकोर्ट द्वारा नज़रबंदी हटाने वाले फैसले के कुछ वक्त बाद की गई है, जबकि जेयूडी चीफ की तरफ से चुनाव के लिए संसदीय क्षेत्र से जुड़ी कोई खबर फिलहाल सामने नहीं आई है। बहरहाल मामला जो भी हो, इसमें कोई दो राय नहीं कि पाकिस्तानी हुक्मरानों की सरपरस्ती में ही आतंकी तमाम संगठन भारत के खिलाफ रणनीति तैयार कर रहे हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: