बृहस्पतिवार, 26 अप्रैल 2018 | 03:18 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | राम जेठमलानी ने क्यों खोला मोदी के खिलाफ मोर्चा?

राम जेठमलानी ने क्यों खोला मोदी के खिलाफ मोर्चा?


2019 के लोकसभा चुनाव जितने नजदीक आते जा रहे हैं..देश की राजनीति कोई दूसरा ही रू लेती जा रही हा  तभी तो एक के बाद एक बदलाव राजनीति में भी देखने को मिल रहे हं  और लोगों में  जिसके कारण इस बात अंदाजा अभी स लगना शुरू हो गया  कि 2019 के लोक सभा चुनाव कितने इंचरेस्टिग होने वाले हैं  ऐसा ही एक बड़ा बयान देश के जाने माने वक्तील और बीजेपी नेता राम जेठमलानी ने दिया है  जिसके बाद देश कि सियासत ने दूसरा ही रूख इख्तियार कर दिया है  कभी मोदी का समरअथन करने वाले रामजेठमलानी अब मोदी को हराने के लिये किसी ति सेरे मोर्च की तलाश में जुट गये हं आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि  देश के जाने-माने वकील राम जेठमलानी ने पीएम नरेंद्र मोदी को सत्ता से बाहर करने के लिए एक तीसरा मोर्चा बनाने की वकालत की है   राम जेठमलानी चाहते हैं कि इस तीसरे मोर्चे का नेतृत्व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी करे। राम जेठमलानी ने इंदौर में आज कहा कि बीजेपी और कांग्रेस ने लोगों को धोखा देने का साझा अपराध किया है इसलिए 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले एक तीसरा मोर्चा बनना चाहिए और इस सरकार को सत्ता से बाहर करना चाहिए। कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थक रहे वरिष्ठ वकील ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही जर्मनी और दूसरे देशों में जमा काला दन को वापस लाने के लिए गंभीर नहीं है।  पूर्व कानून मंत्री राम जेठमलानी ने टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी की तारीफ करते हुए कहा कि उनमें प्रधानमंत्री बनने की योग्यता है। उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि अगले चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता से बाहर करने के लिए ममता बनर्जी तीसरे मोर्चे का नेतृत्व करें, उनमें पीएम बनने की काबिलियत है।” अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री रह चुके राम जेठमलानी जिस तरह सेअ अब वो तिसार मोर्चा ममता बेनर्जी में देख रहे हं..उससे एक चीज तो साफ है कि  2019 में देश की राजनिति किसी दूसरी ही समीकरण में बदल जायेगी...

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: