सोमवार, 10 दिसम्बर 2018 | 04:46 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | फूलपुर में अखिलेश से क्यों हार गये योगी?

फूलपुर में अखिलेश से क्यों हार गये योगी?


यूपी में 11 मार्च को हुए गोरखपुर और फुलपुर की लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे जिनका परिणान आ रहा है  अभी तक के परिणामों को अगर देखा जाये तो..गेरखपुर में योगी की लहर बरकरार है और गोरखपुर में बीजेपी की जीत पक्की मानी जा रही तो वहीं यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का गढ़ फूलपुर उनके हाथ से निकल गया है क्योकि यहां पर माया और अखिलेश की जोड़ी को लोगों का समर्थन जमकर मिल रहा है जिसके कारण फूलपु र की सीट सपा की झोली में जाना पक्की मानी जा रही है जिस तरह से फूलपुर की सीट योगी से अखिलेश ने छिनी है उसे देखकरअब सवाल उठने लगे हं कि ऐसे कौन से कारण हैं जिनकी वजह से बीजेपी को ये सीट  गंवानी पड़ी तो आपको बता दें फूलपुर उपचुनाव के लिए 37.4 फीसदी मतदान हुआ था जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में 50.2 फीसदी मतदान हुआ था। इस तरह इस बार 12.4 फीसदी वोटिंग कम हुई है आजादी के बाद पहली बार मोदी लहर में फूलपुर में भाजपा का 2014 के लोकसभा चुनाव में खाता खुला था केशव प्रसाद मौर्य ने भाजपा प्रत्याशी के तौर पर जीत दर्ज की थी लेकिन अब वो ये सीट हार चुके हैं  केशव प्रसाद मौर्य की फूलपुर मे पहली हार नहीं है इससे पहले हुए मेयर के चुनावों में भई यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या का खाता नहीं खुला था जि सेक कारण बीजेपी की जमकर किसरकिरी हुई थी और इस बार भई बीजेपी को फूलपुर की सीट गंवानी प़ड़ी फूलपुर में मतगड़ना के शुरूआती दौर से ही सपा नागेंद्र पटेल और भाजपा के कौशलेंद्र पटेल के बीच कड़ी टक्कर चल रही थी सपा प्रत्यासी  बीजेपी के पिर्त्यासी के पछाड़ता हुआ अब 78 हजार वोटो से आगे चल रहा है जिस तरह से सपा ने फुलपुर की सीट पर जीत दर्ज कराई है उससे एक चीज तो साफ हो चुकी की बीजेपी को अब यूपी में नकारा जा रहा है और मायावती और अखिलेश की जोड़ी को जमकर पसंद किया जा रहा है

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: